छत्तीसगढ़ ट्रेंडिंग वायरल स्लाइडर

छत्तीसगढ़: 5 महीने की यह गर्भवती DSP लॉकडाउन की व्यवस्था संभालने ड्यूटी पर मौजूद… कहा- लोग घरों में रहें, इसलिए हम बाहर हैं…

कोरोना के कहर के बीच देश मुश्किल वक्त से गुजर रहा है। कई दर्दनाक कहानियां सामने आ रही हैं, लेकिन कुछ ऐसी भी हैं जो हौसले, हिम्मत और फर्ज की मिसाल हैं। ऐसी ही एक कहानी और उसके फोटोग्राफ हम आपसे साझा कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ का दंतेवाड़ा जिला। ये नक्सलवाद से से प्रभावित है। कोरोना के दौर में हालात और खराब हो गए। राज्य सरकार ने यहां 18 से 27 अप्रैल तक लॉकडाउन का ऐलान किया है। यहीं तैनात हैं DSP शिल्पा साहू। शिल्पा को 5 महीने की प्रेग्नेंसी यानी गर्भ है। लेकिन, वे घर में आराम करने के बजाए मुस्तैदी से फर्ज को अंजाम दे रही हैं यानी ड्यूटी पर मौजूद हैं। चिलचिलाती धूप और नक्सली खतरे से बेखौफ।

ड्यूटी का दबाव नहीं था, फिर भी सड़कों पर लोगों को समझाती रहीं
शिल्पा पर ड्यूटी का कोई दबाव नहीं था। वो चाहतीं तो घर पर आराम भी कर सकतीं थीं। लेकिन, उन्हें इस मुश्किल वक्त में अपना फर्ज निभाना ज्यादा बेहतर लगा। टीम के साथ सड़कों पर उतरीं। हाथ में डंडा लिए लोगों को कभी प्यार तो कभी चेतावनी के लहजे में समझातीं रहीं कि वे नियमों का पालन करें। घर में रहें, सुरक्षित रहें।

नक्सलियों के गढ़ में भी बेखौफ जाती हैं शिल्पा
जिले में महिला DRG की एक टीम है, जिसका नाम दंतेश्वरी फाइटर्स है। DSP शिल्पा इसी टीम को लीड करती हैं। नक्सलियों के गढ़ में भी बेखौफ जाती हैं। तेलम, टेटम, निलवाया, गुमियापाल, चिकपाल, मारजुम सहित कई ऐसे इलाके हैं जहां वो खुद नक्सलियों का सामना करती हैं। शिल्पा और उनकी टीम ने कई बार नक्सलियों के मंसूबों पर पानी फेरा है, कई IED को डिफ्यूज किया।