टेक्नोलॉजी ट्रेंडिंग व्यापार

नौकरी के साथ 1 लाख रुपये में शुरू करें ये बिजनेस, मंथली होगी 40000 से ज्यादा की एक्स्ट्रा कमाई, सरकार करेगी 80% मदद

नई दिल्ली. हम आपको बता रहे हैं एक खास बिज़नेस (Business Tips) के बारे में, जिसे आप कम पैसों में शुरू कर ज्यादा मुनाफा कमा (Earn Money) सकते हैं. हम बात कर रहे हैं बिस्किट की, जी हां बिस्किट एक ऐसी चीज है जो हमेशा डिमांड में रहता है. इसकी मांग में कभी कमी नहीं आती. ऐसे में बेकरी प्रोडक्ट बनाने की यूनिट लगाना बेहतर विकल्प हो सकता है.

अगर आप बेकरी इंडस्ट्री में खोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपकी मदद मोदी सरकार कर रही है. मुद्रा स्कीम के तहत बिजनेस शुरू करने के लिए आपको सिर्फ 1 लाख रुपये निवेश करना होगा. कुल खर्च का 80 फीसदी तक फंड की मदद सरकार से मिल जाएगी. इसके लिए सरकार ने खुद प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की है. सरकार ने जो बिजनेस की स्ट्रक्चरिंग की है, उस हिसाब से आपको सभी खर्च काटने के बाद हर महीने 40 हजार रुपये से ज्यादा मुनाफा हो सकता है.

कितना आएगा खर्च
प्रोजेक्ट लगाने में कुल खर्च: 5.36 लाख रुपए इसमें आपको खुद के पास से सिर्फ 1 लाख रुपये लगाना होगा. मुद्रा स्कीम के तहत आपका सेलेक्शन होता है तो बैंक से टर्म लोन 2.87 लाख रुपये और वर्किंग कैपिटल लोन 1.49 लाख रुपये मिल जाएगा. प्रोजेक्ट के तहत आपके पास 500 वर्गफुट तक का खुद का स्पेस होना चाहिए. अगर नहीं है तो इसे रेंट पर लेकर प्रोजेक्ट फाइल के साथ दिखाना होगा.

कितना होगा मुनाफा
सरकार ने जो प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की है, उस लिहाज से 5.36 लाख रुपए में कुल सालाना उत्पादन और उसकी बिक्री का अनुमान कुछ इस तरह से लगाया गया है.

4.26 लाख रुपये: पूरे साल के लिए कास्ट ऑफ प्रोडक्शन

20.38 लाख रुपये: पूरे साल में इतना प्रोडक्ट बन जाएगा कि उसे बेचने पर 20.38 लाख रुपए मिल जाएंगे. बता दें कि इसमें बेकरी प्रोडक्ट की बिक्री कीमत मार्केट में मिलने वाले दूसरे आइटम्स के रेट के आधार पर कुछ कम करके तय किए गए हैं.

6.12 लाख रुपये: ग्रॉस ऑपरेटिंग प्रॉफिट
70 हजार: एडमिनिस्ट्रेशन और सेल्स पर खर्च
60 हजार: बैंक के लोन का ब्याज
60 हजार: अन्य खर्च
नेट प्रॉफिट: 4.2 लाख रुपए सालाना

मुद्रा स्कीम में करें अप्लाई
इसके लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आप किसी भी बैंक में अप्लाई कर सकते हैं. इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा, जिसमें ये डिटेल देनी होगी… नाम, पता, बिजनेस एड्रेस, एजुकेशन, मौजूदा इनकम और कितना लोन चाहिए. इसमें किसी तरह की प्रोसेसिंग फीस या गारंटी फीस भी नहीं देनी होती. लोन का अमाउंट 5 साल में लौटा सकते हैं.