वायरल

क्या सरकार दे रही है घर में 4G/5G टावर लगाने की मंजूरी? जानें इस वायरल मैसेज की पूरी सच्चाई

Fake Message Alert: क्या आपके पास कोई मैसेज आया है, जिसमें कहा गया है कि आपके घर में सरकार द्वारा मंजूरी प्राप्त 4G/5G टावर को लगा सकते हैं. अगर हां, तो आपको बता दें कि यह मैसेज पूरी तरह फर्जी और झूठा है. सरकार ने ऐसे किसी टावर को मंजूरी नहीं दी है. PIB फैक्ट चेक ने अपने ट्विटर हैंडल पर इसकी जानकारी दी है.

मैसेज में क्या कहा गया है?
PIB फैक्ट चेक ने ट्वीट करके कहा कि एक फर्जी मैसेज घूम रहा है, जो सरकार के 4G/5G टावर को लगाने की मंजूरी के बारे में है. उसने बताया कि भारत सरकार द्वारा ऐसा कोई एलान नहीं किया गया है. इसलिए, ऐसे किसी फर्जी ईमेल या एसएमएस का कभी भी जबाव नहीं दें. इसलिए अगर आपको भी यह मैसेज व्हाट्सऐप या एमएसएस के जरिए मिलता है, तो इस पर बिल्कुल भी विश्वास न करें. इसके साथ इसे किसी दूसरे व्यक्ति को आगे फॉरवर्ड भी न करें. और लोगों को ऐसे फर्जी मैसेज के बारे में अवगत कराएं.

अगर आपसे इस टावर को इंस्टॉल करने के लिए किसी फॉर्म को भरने के लिए कहा जाता है, तो इससे भी बचें. अपनी कोई निजी जानकारी इसमें उपलब्ध न कराएं. साथ ही, किसी भी शुल्क का भुगतान भी न करें. यह साइबर अपराधियों द्वारा आपको फ्रॉड का शिकार बनाने का एक जरिया हो सकता है. इसलिए सतर्क रहें. PIB फैक्ट चेक ने एक ऐसे मैसेज का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया है.
कोरोना महामारी के दौर में साइबर क्राइम के मामलों में तेज बढ़ोतरी हो रही है. ऐसे में आप भी सावधान रहें.

PIB फैक्ट चेक क्या है?
आपको बता दें कि PIB फैक्ट चेक सरकारी नीतियों या स्कीमों पर गलत जानकारी का खंडन करता है. अगर आपको कोई सरकार से संबंधित समाचार के फर्जी होने का शक है, तो आप PIB फैक्ट चेक को इसके बारे में जानकारी दे सकते हैं. इसके लिए आप 918799711259 इस मोबाइल नंबर या socialmedia@pib.gov.in ईमेल आईडी पर भेज सकते हैं.