अन्य टेक्नोलॉजी वायरल

VIDEO: वैज्ञानिकों ने शेयर की सूर्य की पहली ऐसी तस्वीर…जिसे देखकर आप भी रह जाएंगे हैरान…इससे पहले कभी नहीं आई ऐसी तस्वीरें…

यूएस के एस्ट्रोनॉट ने सूरज की अशांत सतह की कभी न देखी गई तस्वीरें शेयर की है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, हवाई में स्थित डेनियल के इंनौए सोलर टेलिस्कोप (DKIST) ने ऐसी तस्वीरें जारी की हैं, जो सूरज के 30 किलोमीटर छोटे क्षेत्र को दिखा रही है।

यह बेहद शानदार है क्योंकि इसे पृथ्वी के पैमाने के खिलाफ सेट किया गया था, जिसका डायमीटर 1.4 मिलियन किलोमीटर है और धरती से इसकी दूरी 149 मिलियन किलोमीटर है।



सेल जैसी संरचनाएं मोटे तौर पर अमेरिकी राज्य टेक्सास के आकार की हैं। वे गर्म, गैस, या प्लाज्मा के द्रव्यमान का संवहन कर रहे हैं। अधिक रोशनी वाले केंद्र वो है, जहां सोलर सामग्री बढ़ रही है और इसके आस-पास के हिस्‍सों में प्लाज्मा ठंडा हो रहा है।

आपको बता दें कि DKIST एक नई सुविधा है, जो Haleakala में स्थित है। यह हवाई द्वीप के माउई (Maui) पर 3,000 मीटर ऊंचे ज्वालामुखी पर स्थित है। इसका 4 एम का प्राथमिक शीशा दुनिया के सभी सोलर टेलीस्कोप में सबसे बड़ा है।
WP-GROUP

इस टेलीस्‍कोप का इस्‍तेमाल सूरज की कार्यशैली के अध्‍ययन के लिए किया जाएगा। वैज्ञानिक सूरज के गतिशील बिहेवियर पर ताजा जानकारी इस उम्‍मीद में जुटाना चाहते हैं ताकि वह उसके ऊर्जावान आवेग की सही से भविष्‍यवाणी कर सकें, जिसे आमतौर पर ‘अंतरिक्ष का मौसम’ कहा जाता है।

आवेशित कणों और चुंबकीय क्षेत्र के विशाल उत्सर्जन के कारण पृथ्वी के उपग्रहों को नुकसान पहुंचना, अंतरिक्ष यात्रियों को नुकसान पहुंचना, रेडियो संचार को कम करने और बिजली ग्रिडों को प्रभावित करने के लिए जाना जाता है।

DKIST सोलर ऑर्बिटर (सोलो) अंतरिक्ष वेधशाला का पूरक है, जिसे फ्लोरिडा में केप कैनाल से अगले हफ्ते लॉन्च किया जा रहा है। यह संयुक्त यूरोपीय-अमेरिकी जांच सतह से सिर्फ 42 मिलियन किलोमीटर दूर सूर्य के सबसे नज़दीकी सहूलियत बिंदु से तस्वीरें लेगा।

यह भी देखें : 

VIDEO छत्तीसगढ़ : प्रदेश कांग्रेस राजीव भवन के साथ-साथ सभी जिला और ब्लॉक मुख्यालयों में दो मिनट का मौन रखकर बापू को दी गई श्रद्धांजलि…