अन्य ट्रेंडिंग

क्या आप भी कढ़ाई में बचा तेल करते हैं इस्तेमाल?… कैंसर समेत इन 7 बीमारियों का खतरा…

File Photo

पकौड़े या पूरियां बनाने के बाद अक्सर लोग बचे हुए तेल को संभालकर रख लेते हैं। इस तेल का इस्तेमाल वे कई-कई बार दूसरी चीजों को बनाने में करते हैं। समय और पैसा बचाने के लिए शायद ऐसा किया जाता है। लेकिन क्या यह सही है? रीयूज ऑयल (दोबारा इस्तेमाल होने वाला तेल) से होने वाली गंभीर बीमारियों को जानने के बाद आप कभी ऐसी गलती नहीं करेंगे।

कैंसर का कारण-
तेल का बार-बार इस्तेमाल कैंसर का खतरा बढ़ाता है, तेल को बार-बार गर्म करने से उसमें धीरे-धीरे फ्री रेडिकल्स का निर्माण होता है। इससे तेल में एंटी ऑक्सीडेंट की मात्रा समाप्त होने लगती है और कैंसर के कीटाणुओं की संभावना काफी बढ़ जाती है।



इन बीमारियों से रहें सावधान-
तेल का एक से ज्यादा बार इस्तेमाल करने से उसका रंग काला पड़ता जाता है। ये तेल शरीर में लो डेंसिटी लीपोप्रोटीन यानी बैड कॉलेस्ट्रोल को बढ़ाता है। इसके बढ़ने से हृदय रोग, स्ट्रोक और छाती में दर्द की संभावना बढ़ जाती है।

एसिडिटी और गले में जलन-
ज्यादातर स्ट्रीट फूड बनाने के लिए ऐसे ही तेल का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें बने खाने का सेवन करने से आपको गले में जलन और एसिडिटी की शिकायत हो सकती है।
WP-GROUP

मोटापा और डायबिटीज-
तेल का बार-बार इस्तेमाल करने से आप मोटापा, डायबिटीज और अन्य तरह के हृदय रोगों का शिकार हो सकते हैं। रीयूज ऑयल का सेवन बंद करने से और भी कई तरह की बीमारियों का खतरा टाला जा सकता है।



ये हैं बचाव के तरीके-
री-हीटिड कुकिंग ऑयल के बार-बार इस्तेमाल से बचने के लिए कुछ चीजों पर ध्यान देना जरूरी है। पहला, खाना जरूरत के हिसाब से बनाएं। ऐसा करने से आपके पैन में न तो फालतू तेल बचेगा और न आप उसका दोबारा इस्तेमाल कर पाएंगे।

दूसरा, घर के खाने की आदत डालें और बाहर के खाने से बचें। बाहर मिलने वाला जंक फूड ऐसे ही तेल में बना होता है। तीसरा, दोस्तों या परिवार के साथ बाहर जाते वक्त घर से खाना बनाकर ले जाएं तो बेहतर होगा। ट्रैवलिंग के दौरान भी बाहर के बने खाने से दूर ही रहें तो अच्छा होगा।

यह भी देखें : 

बहन बनाकर 15 साल की लड़की से क‍िया RAPE…शादी की रस्में न‍िभाई, फ‍िर…

Add Comment

Click here to post a comment

विज्ञापन

हमसे जुड़ें

Do Subscribe

JOIN us on Facebook