अडानी ग्रुप दे रहा बंपर कमाई का मौका, 27 जनवरी को ओपन होगा FPO, चेक करें डिटेल्स » द खबरीलाल                  
व्यापार

अडानी ग्रुप दे रहा बंपर कमाई का मौका, 27 जनवरी को ओपन होगा FPO, चेक करें डिटेल्स

अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (adani enterprises limited) का एफपीओ जल्द ही आने वाला है. इस एफपीओ (FPO) को लेकर बाजार में काफी चर्चा चल रही है. कंपनी ने 20,000 करोड़ रुपये के फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर (FPO) के लिए शेयर बाजारों के समक्ष पेशकश पत्र दाखिल किया है. देश के दिग्गज अरबपति कारोबारी गौतम अडानी के अगुवाई वाले समूह की प्रमुख कंपनी है.

27 जनवरी को ओपन होगा FPO
पेशकश पत्र के मुताबिक, अडानी का एफपीओ 27 जनवरी को खुलेगा और 31 जनवरी को बंद होगा. एफपीओ के तहत कंपनी ने 3112 से 3276 रुपये प्रति शेयर प्राइस बैंड तय किया है. बीएसई पर बुधवार को कंपनी के शेयर 3,595.35 रुपये के लेवल पर क्लोज हुए हैं.

कंपनी कहां करेगी पैसे का इस्तेमाल?
एफपीओ से मिले 20,000 करोड़ रुपये में से 10,869 करोड़ रुपये का इस्तेमाल हरित हाइड्रोजन परियोजनाओं, मौजूदा हवाई अड्डों के विकास और नए एक्सप्रेसवे के निर्माण के लिए किया जाएगा. इसके अलावा 4,165 करोड़ रुपये से हवाई अड्डों, सड़क और सौर परियोजना क्षेत्र की अनुषंगी कंपनियों द्वारा लिए गए कर्ज को चुकाया जाएगा.

एक व्यापारी के रूप में की थी शुरुआत
अडानी ग्रुप ने एक व्यापारी के रूप में शुरुआत की थी और आज उनका कारोबार बंदरगाह, कोयला खनन, हवाई अड्डा, डेटा केंद्रों और सीमेंट के साथ ही हरित ऊर्जा तक फैला है. AEL भारत का सबसे बड़ी सूचीबद्ध व्यापार इनक्यूबेटर है और चार प्रमुख उद्योग क्षेत्रों – ऊर्जा और उपयोगिता, परिवहन और लॉजिस्टिक, उपभोक्ता और प्राथमिक उद्योग में शामिल है.

नए कारोबार का विस्तार कर रही कंपनी
कंपनी ने कहा है कि हमने पिछले कुछ सालों में अडानी ग्रुप के लिए नए कारोबार की स्थापना में मदद की है. उन्हें बड़े और आत्मनिर्भर व्यावसायिक खंड की तरह विकसित किया और बाद में उन्हें स्वतंत्र रूप से सूचीबद्ध मंच के रूप में अलग किया. कंपनी के वर्तमान पोर्टफोलियो में एक हरित हाइड्रोजन पारिस्थितिकी तंत्र, डेटा केंद्र, हवाई अड्डे, सड़कें, खाद्य एफएमसीजी, डिजिटल, खनन, रक्षा और औद्योगिक विनिर्माण शामिल हैं.

कंपनी पर कितना है कर्ज?
कंपनी नए अवसरों से फायदा उठा रही है, जिसमें हरित हाइड्रोजन, विमानन क्षेत्र और डेटा केंद्र शामिल हैं. कंपनी का कर्ज 30 सितंबर, 2022 तक 40,023.50 करोड़ रुपये था.