देश -विदेश व्यापार

Stock Market : आज पॉजिटिव मूड में है बाजार, सेंसेक्‍स जाएगा 56 हजार के पार, कौन-से फैक्‍टर डालेंगे ज्‍यादा असर?

नई दिल्‍ली. भारतीय शेयर बाजार (Stock Market) ने इस सप्‍ताह के शुरुआती दो सत्रों में गिरावट झेलने के बाद फिर करवट बदली और तेजी की राह पकड़ ली. पिछले सत्र में सेंसेक्‍स और निफ्टी ने बड़ी बढ़त बनाई और आज सेंसेक्‍स 56 हजार के पार जाता दिख रहा है.

सेंसेक्‍स पिछले सत्र में 548 अंकों की तेजी के साथ 55,816 पर बंद हुआ था, जबकि निफ्टी 158 अंक चढ़कर 16,642 पर पहुंच गया था. बाजार विश्‍लेषकों का कहना है कि ग्‍लोबल मार्केट के पॉजिटिव सेंटिमेंट का आज घरेलू निवेशकों पर भी असर दिखेगा और बाजार एक बार फिर तेज बढ़त बना सकता है. आज तेजी आई तो सेंसेक्‍स 56 हजार के पार चला जाएगा.

अमेरिकी बाजार ने दिखाई तेजी
अमेरिका में महंगाई को थामने के लिए फेडरल रिजर्व ने ब्‍याज दरों में लगातार दूसरे महीने तेज बढ़ोतरी की है. हालांकि, फेड रिजर्व की बैठक से पहले वहां के शेयर बाजारों में तेजी दिखी और प्रमुख स्‍टॉक एक्‍सचेंज बढ़त पर बंद हुए. अमेरिका के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल NASDAQ पर पिछले सत्र में 4.6 फीसदी का बड़ा उछाल दिखा.

यूरोपीय बाजारों में भी उछाल
अमेरिका में तेजी का असर यूरोप के सभी प्रमुख शेयर बाजारों पर दिखा और बढ़त पर बंद हुए. यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में शामिल जर्मनी का स्‍टॉक एक्‍सचेंज पिछले कारोबारी सत्र में 0.53 फीसदी की बढ़त पर बंद हुआ था, जबकि फ्रांस का शेयर बाजार 0.75 फीसदी की तेजी पर बंद हुआ. इसी तरह, लंदन स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर भी पिछले सत्र में 0.57 फीसदी का उछाल रहा था.

ज्‍यादातर एशियाई बाजारों ने बढ़त बनाई
एशिया के ज्‍यादातर शेयर बाजार आज सुबह बढ़त पर खुले ओर हरे निशान पर ट्रेडिंग कर रहे हैं. सिंगापुर स्‍टॉक एक्‍सचेंज 0.61 फीसदी की बढ़त पर कारोबार कर रहा तो जापान के निक्‍केई पर 0.23 फीसदी की तेजी दिख रही है. दक्षिण कोरिया का कॉस्‍पी भी 0.95 फीसदी की बढ़त पर है, लेकिन हांगकांग का बाजार 0.33 फीसदी और ताइवान का 0.04 फीसदी की गिरावट पर कारोबार कर रहा. चीन के शंघाई कंपोजिट पर आज 0.13 फीसदी की तेजी दिख रही है.

विदेशी निवेशकों ने फिर की बिकवाली
विदेशी निवेशकों ने भारतीय शेयर बाजार से पूंजी निकालने का सिलसिला एक बार फिर पकड़ लिया है. पिछले कारोबारी सत्र में भी विदेशी संस्‍थागत निवेशकों ने बाजार से 436.81 करोड़ के शेयर बेचकर पैसे निकाल लिए. हालांकि, इसी दौरान घरेलू संस्‍थागत निवेशकों ने 712.03 करोड़ रुपये के शेयर खरीद डाले, जिससे बाजार को बढ़त बनाने में मदद मिली.