छत्तीसगढ़ स्लाइडर

कोरोना के बढ़ते केसों की वजह से तैयारी प्रारंभ… मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग पर फोकस, मंत्रालय में 850 को लगा बूस्टर डोज…

प्रदेश में कोरोना के बढ़ते केसों की वजह से स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी प्रारंभ कर दी है। फिलहाल मास्क का उपयोग बढ़ाने व सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर देने का फैसला किया है। बूस्टर लगाने के लिए लोगों को प्रेरित करने को कहा गया है। प्रदेश में 4 हजार टीकाकरण केंद्र खोले हैं।

15 आरटीपीसीआर जांच केंद्र रायपुर, बिलासपुर, रायगढ़, अंबिकापुर, बस्तर, राजनांदगांव, कोरबा, महासमुंद, कांकेर, कोरिया, जशपुर, जांजगीर-चांपा, बालोद, बलौदाबाजार व दंतेवाड़ा में संचालित हो रहे हैं। जांच के लिए 1210 रैपिड एंटीजेन जांच केंद्र बनाए हैं। प्रदेश में भरपूर वैक्सीन होने का दावा किया गया है।

मंत्रालय में कॉडर के 1200 और करीब 800 संलग्न अधिकारी – कर्मचारी हैं। जीएडी ने इनमें से 850 को स्वास्थ्य विभाग का कैंप लगाकर बूस्टर डोज लगाया है। बाकी स्टाफ ने पहले ही बूस्टर लगवा लिया है। स्वास्थ्य विभाग के जरिए मंत्रालय में दो- तीन दिनों की अंतर में सेनिटाइजेशन भी प्रारंभ कर दिया गया है।

हालांकि अभी पहले की तरह गेट पर इसकी व्यवस्था नहीं की गई है। करीब 72 बसें पहले की तरह स्टाफ को लाना- ले जाना कर रही हैं। इधर, प्रदेश में कोरोना के बढ़ते केसेस पर जीएडी, हेल्थ और राजस्व विभाग नजर रखे हुए हैं।

वे आपस में को ऑर्डिनेशन कर पहले से तैयारियों को लेकर राय -मशविरा कर रहे हैं। कोरोना की तीन लहरों में इन विभागों ने ही पूरे प्रदेश में दायित्व संभाला था। मालूम हो कि कोरोना की वजह से मंत्रालय के ही आधा दर्जन कर्मचारियों की मौत हो चुकी है।

हेल्थ गाइडलाइन
कोरोना बढ़ रहा, सावधानी रखें।
भीड़भाड़ व कम हवादार वाले स्थानों पर जाने से बचें।
मास्क लगाए, डिस्टेंसिंग रखें, साबुन से बार-बार हाथ धोएं।
सर्दी-खांसी, बुखार, सांस में तकलीफ पर जांच करवाएं।
उल्टी -दस्त भी लक्षण में हैं शामिल, गंभीरता से लें।