टेक्नोलॉजी ट्रेंडिंग

खुशखबरी! 5G स्पेक्ट्रम को मिली मंजूरी, जानिए कब तक मिलेगी सर्विस, 4G से है कई गुना फास्ट

भारत में 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी को मंजूरी मिल गई है. केंद्रीय कैबिनेट (Union Cabinet) ने इसकी मंजूरी दे दी है. डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन के प्रस्ताव के अनुसार, नीलामी में सफल रहने वाली टेलीकॉम कंपनियां देशभर में 5G सर्विस उपलब्ध करवा सकती हैं.

भारत में 5G सर्विस शुरू करने की डेट अभी तक कन्फर्म नहीं हो पाई है. लेकिन, कई रिपोर्ट्स के अनुसार, इस साल के आखिरी तक इस सर्विस को जारी किया जा सकता है. 5G मौजूदा 4G से काफी ज्यादा फास्ट है. इसकी स्पीड की वजह से कई चीजों में बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे.

दूरसंचार मंत्रालय ने जो प्रस्ताव दिया है उसके अनुसार 5G स्पैक्ट्रम को 72Ghz पर अगले 20 साल के लिए नीलाम किया जाएगा. आपको बता दें कि टेलीकॉम कंपनियां 5G सर्विस के लिए लगातार ट्रायल कर रही है. इसमें डाउनलोड और अपलोड के लिए काफी ज्यादा स्पीड देखने को मिली है.

ऐसे में माना जा रहा है कि नीलामी प्रक्रिया होने के बाद कंपनियां जल्द इसे जारी करने पर काम करेगी. इसको लेकर टेलीकॉम कंपनियां लगातार इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार कर रही हैं. एक रिपोर्ट में ये बताया गया है कि इसे पहले मेट्रो सिटी और बड़े शहरों में जारी किया जाएगा.

72097.85 MHz स्पेक्ट्रम की नीलामी जुलाई 2022 के आखिर तक की जाएगी. इसकी वैधता 20 सालों के लिए होगी. स्पेक्ट्रम की नीलामी में लो (600 MHz, 700 MHz, 800 MHz, 900 MHz, 1800 MHz, 2100 MHz, 2300 MHz), मिड (3300 MHz) और हाई (26 GHz) फ्रीक्वेंसी बैंड को शामिल किया जाएगा.ये माना जा रहा है कि मिड और हाई बैंड स्पेक्ट्रम का यूज करके टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर 5G को जारी करेंगे.

5G आने के बाद इन चीजों में देखने को मिलेगा बदलाव:-
5G आने के बाद सबसे बड़ा अंतर आप इंटरनेट स्पीड में देखने को मिलेगी. इसमें आपको मौजूदा स्पीड से 10 गुना तेज स्पीड मिलेगी. इसके अलावा ऑडियो और वीडियो कॉल की क्वालिटी काफी बेहतर हो जाएगी. गेमिंग सेक्टर में भी 5G आने के बाद काफी ज्यादा बदलाव देखने को मिलेगा.

5G आने के बाद IoT डिवाइसेज का यूज बढ़ेगा जिससे आपका घर स्मार्ट बन जाएगा. इसके अलावा ड्रोन के जरिए डिलीवरी देने और खेत की देखभाल करने में भी इससे मदद मिलेगी. 5G से ड्राइवर-लेस गाड़ियों को ऑपरेट करना भी आसान हो जाएगा.