खेलकूद ट्रेंडिंग

IPL 2022: दिलचस्प हुई प्लेऑफ की जंग, 3 टीमों की जगह लगभग पक्की! चौथे स्थान के लिए खींचतान जारी

नई दिल्ली. दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) ने आईपीएल 2022 में पहली बार लगातार 2 मैच जीते. इस तरह से उसने प्लेऑफ की अपनी स्थिति को काफी मजबूत भी कर लिया है. टीम ने सोमवार को एक मुकाबले में पंजाब किंग्स को 17 रन से हराया. यह उसकी 13 मैचों में 7वीं जीत है. टीम टेबल में चौथे नंबर पर काबिज है. यह लीग राउंड का अंतिम सप्ताह है. 70 में से 64 मुकाबले खेले जा चुके हैं और सिर्फ 6 ही मैच बचे हैं. टेबल को देखें तो 3 टीमों का प्लेऑफ में पहुंचना लगभग तय है. अब सिर्फ चौथी टीम के लिए ही माथा-पच्ची होनी है. गुजरात टाइटंस की टीम पहले ही 20 अंक के साथ प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई कर चुकी है. राजस्थान और लखनऊ के एक-एक मैच बचे हैं और दोनों के 16-16 अंक हैं.

राजस्थान रॉयल्स: टीम का रनरेट प्लस में है. टीम ने रविवार को लखनऊ को हराया. वहीं आरसीबी का रनरेट नेगेटिव में है. राजस्थान को अंतिम मैच में 20 मई को सीएसके से भिड़ना है. उसका नेट रनरेट तभी लखनऊ और आरसीबी से नीचे आएगा, जबकि उसे सीएसके से बड़ी हार मिले. वहीं आरसीबी की टीम गुजरात को 70 से अधिक रन से हराए.

लखनऊ सुपर जायंट्स: लगातार हार के कारण लखनऊ का रनरेट गिरा है, लेकिन अभी भी वह प्लस में है. टीम तभी टॉप-3 की रेस से बाहर हो सकती है, जबकि उसे 18 मई को केकेआर के खिलाफ लगभग 80 रन से हार मिले. दूसरी ओर आरसीबी की टीम गुजरात को 70 रन से पटकनी दे.

दिल्ली कैपिटल्स: दिल्ली कैपिटल्स का रनरेट भी प्लस में है. उसके अभी 13 मैच में 14 अंक है. अंतिम मैच में उसे 21 मई को मुंबई इंडियंस से भिड़ना है. टीम यदि यह मैच जीत जाती है, तो उसके 16 अंक हो जाएंगे और रनरेट बढ़ेगा ही. लेकिन अगर वह यह मैच हार जाती है और आरसीबी की टीम गुजरात को हरा देती है, तो दिल्ली की टीम बाहर हो जाएगी. अगर दोनों ही टीमों को अंतिम मैच में हार मिलती है, तो 14 अंक वाली टीमें रेस में आ सकती हैं.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर: टीम ने अब तक 13 में से 7 मुकाबले जीते हैं. लेकिन टीम का रनरेट बेहद खराब और माइनस में है. मुंबई को छोड़कर उसका रनरेट सबसे खराब है. ऐसे में अंतिम मैच जीतने पर भी उसकी जगह प्लेऑफ में सुरक्षित नहीं है. अगर दिल्ली की टीम जीत हासिल कर लेती है, तो विराट कोहली की टीम आरसीबी को फिर इंतजार करना होगा. कोहली अब तक आईपीएल का खिताब नहीं जीत सके हैं.