छत्तीसगढ़ व्यापार स्लाइडर

फिर लौटा पाबंदियों का दौर… 12वीं तक स्कूल, हॉस्टल सब बंद… 8वीं तक छुट्‌टी… शाम 5 बजे तक खुलेंगे बाजार…

छत्तीसगढ़ में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के आंकड़ों के बीच पाबंदियों का दौर एक बार फिर लौटने लगा है। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM), बलौदाबाजार-भाटापारा और जशपुर प्रशासन ने गाइडलाइन में संशोधन करते हुए गुरुवार को नया आदेश जारी कर दिया। इसके बाद GPM और बलौबाजार में स्कूल बंद कर दिए गए हैं। वहीं जशपुर के पत्थलगांव में अब 5 बजे तक ही बाजार खुलेंगे।

GPM जिला कलेक्टर की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 और उसके नए वैरिएंट ओमिक्रोन के संक्रमण को देखते हुए 14 जनवरी से अगले आदेश तक सभी स्कूल और हॉस्टल बंद रहेंगे। इनमें पहली से 12वीं तक के प्राइवेट और सरकारी दोनों स्कूल शामिल हैं। इसी तरह आदिम जाति कल्याण विभाग की ओर से संचालित सभी आश्रम व छात्रावास भी बंद रहेंगे।

बलौदाबाजार-भाटापारा में 18 जनवरी तक बंदी
बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के अतिरिक्त कलेक्टर की ओर से जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि वर्तमान में कोविड संक्रमण बढ़ला जा रहा है। ऐसे में पैरेंट्स की मांग को देखते हुए पहली से 8वीं तक के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को बंद किया जा रहा है। यह आदेश 18 जनवरी तक प्रभावी रहेगा। इसके बाद स्कूल खोलने का निर्णय कोविड की स्थिति और समीक्षा के बाद लिया जाएगा।

पत्थलगांव में अब 9 से 5 बजे तक खुलेंगी दुकानें
वहीं जशपुर के पत्थलगांव में दुकानें सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक ही खुलेंगी। क्षेत्र में तेजी से मिल रहे कोरोना संक्रमितों को देखते और संक्रमण को रोकने के लिए यह निर्णय लिया गया है। इस संबंध में स्थानीय व्यापारियों और प्रशासन की संयुक्त बैठक में निर्णय लिया गया है। हालांकि इस बंदी में दूध, फल, सब्जी, दवाई दुकान, पेट्रोल पंप को छूट रहे। प्रदेश में पत्थलगांव पहला इलाका है, जहां तीसरी लहर में दुकानों के लिए समय का निर्धारण किया गया है।