देश -विदेश वायरल

कोलकाता के ‘बुर्ज खलीफा’ में क्यों बंद हुआ लेजर लाइट शो?

कोलकाता: दुबई के बुर्ज खलीफा पर आधारित कोलकाता के एक दुर्गा पूजा पंडाल में लेजर लाइट शो आज बंद कर दिया गया क्योंकि पंडाल में भारी भीड़ आ रही थी. जबकि ऐसी खबरें थीं कि पास के कोलकाता अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पायलटों द्वारा उड़ानों के संचालन में शिकायतों के बाद लेजर लाइट बंद कर दी गई. हवाईअड्डा के सूत्रों ने एनडीटीवी से कहा कि उन्हें इस पर किसी भी आधिकारिक शिकायत की जानकारी नहीं है.

देशभर में दुर्गा पूजा का जश्न मनाया जा रहा है, कोलकाता, दिल्ली, मुंबई हर जगह से दुर्गा पूजा पंडालों की तस्वीरें आ रही हैं. कोलकाता में एक ऐसा ही पंडाल लोगों को लुभा रहा है जिसे दुबई की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफ़ा की तर्ज पर तैयार किया गया है. कोलकाता के इस पंडाल में बुर्ज खलीफ़ा की इमारत देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ी हुई है. ये पंडाल लेक सिटी के श्रीभूमि स्पोर्टिंग क्लब में तैयार किया गया है. इसकी ऊंचाई 145 फ़ीट है, और लोग इसे देखने के लिए दूर-दूर से आ रहे हैं. इस भीड़ को देखते हुए डॉक्टर्स अब चिंता ज़ाहिर कर रहे हैं कि कोविड को ध्यान में रखते हुए ये लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है.

पूजा के आयोजक श्रीभूमि स्पोर्टिंग क्लब ने इस बात से इनकार किया कि कोई शिकायत थी. उन्होंने कहा कि उन्होंने भीड़भाड़ को रोकने के लिए लेजर स्ट्रोब लाइट बंद कर दी. फिलहाल शहर के लेक टाउन क्षेत्र के पंडाल में अभी भी लाइटें जल रही हैं.

दुनिया की सबसे ऊंची इमारत की प्रतिकृति के रूप में बनाए गए 145 फीट के पंडाल को लगभग 6,000 एक्रिलिक शीट का उपयोग करके बनाया गया है. यह हजारों लोगों की भीड़ खींच रहा है. इससे क्षेत्र में अक्सर ट्रैफिक जाम होता रहा है.

पंडाल में रोशनी लाल, नीले और पीले रंग में बदलती हुई दिखती है, ठीक उसी तरह जैसे 829 मीटर ऊंची दुबई की इमारत प्रोजेक्टर से रंगीन प्रकाशित होती है.

राज्य के अग्निशमन मंत्री सुजीत बोस, जो पूजा की आयोजन समिति में शामिल हैं, ने पहले कहा था कि वे हर साल एक प्रतिष्ठित इमारत की प्रतिकृति के रूप में अपना पंडाल बनाते हैं. उन्होंने कहा, “पिछले साल, हमने केदारनाथ मंदिर की प्रतिकृति बनाई थी. इस साल हमारे कलाकार ने बुर्ज खलीफा का सुझाव दिया था. हमने उसे संरचना का हर विवरण प्राप्त करने के लिए दुबई भेजा था.”