वायरल

कोरोना : लॉकडाउन तोडऩे पर ऐसी सजा…

पीएम नरेंद्र मोदी की अपील के बावजूद जम्मू-कश्मीर से लेकर कर्नाटक तक आम लोग लगातार सडक़ पर निकलकर लॉकडाउन का उल्लंघन करते दिख रहे हैं। राज्यों में पुलिस के जवानों ने ऐसे लोगों को सबक देने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाए हैं।
पीएम नरेंद्र मोदी के द्वारा देश में लॉकडाउन का ऐलान करने के बावजूद जो लोग सडक़ पर निकले उन्हें सबक सिखाने के लिए जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवानों ने एक नया तरीका निकाला। ऐसे लोगों को जम्मू शहर के प्रसिद्ध विक्रम चौक पर एक-एक मीटर की दूरी पर घंटो तक सडक़ पर ही बैठाए रखा गया।
जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक, बुधवार को लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले लोगों ने दलील दी कि वो मास्क लगाकर घर से निकले है इसलिए उन्हें कोई खतरा नहीं है। हालांकि पुलिस ने इन सब की बात को अनसुना करते हुए सभी को सडक़ पर बैठने की सजा सुनाई।
सडक़ों पर बैठाए गए लोगों को पुलिस ने लॉकडाउन का मतलब समझाते हुए ये भी बताया कि कोरोना से रोकथाम के लिए किसी भी एक व्यक्ति का घर से बाहर निकलना कितना खतरनाक है। इसके साथ ही पुलिस ने लोगों से अपील भी की कि वह घर से बाहर ना निकलें।

सरकार की सोशल डिस्टेंसिंग की अपील के बावजूद कुछ लोगों ने जहां इसका उल्लंघन किया, तो कुछ लोग इसके समर्थन में एक दूसरे से दूर खड़े होकर दुकानों पर सामान खरीदते दिखाई दिए। नोएडा में बुधवार को एक दुकान के बाद चॉक से बने गोले में खड़े होकर लोगों ने लाइन लगाई और फिर जरूरत का सामान खरीदा।
जम्मू-कश्मीर से लेकर केरल तक लॉकडाउन के बीच तमाम लोग अपने घरों से जरूरी सामानों को लेने के लिए निकलते दिखाई दिए। इनमें से कुछ को पुलिस ने दुकानों तक जाने की इजाजत तो दी, लेकिन दुकानों के बाहर भी गोले बनाकर लोगों को एक मीटर की दूरी पर खड़े रहने के लिए कहा गया। कर्नाटक की एक दुकान पर ऐसी ही एक कतार की कुछ तस्वीरों को हाल ही में सोशल मीडिया पर शेयर किया गया।
पुलिस, सरकार और प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद जिन स्थानों पर लोगों ने लॉकडाउन तोडक़र सडक़ पर घूमने का प्रयास किया, वहां लोगों को अलग-अलग तरीके से सख्त सजा भी दी गई। इनमें से कहीं पर पुलिस ने लाठी भाजकर लोगों को खदेड़ा तो कहीं पर लोगों से सडक़ पर उठक-बैठक तक कराई गई।