छत्तीसगढ़ सियासत स्लाइडर

छत्तीसगढ़: कांग्रेसी विधायक ने खोया आपा…फ्लाइट छूटने पर एयर इंडिया स्टाफ के साथ किया दुव्र्यवहार…

रायपुर। प्रदेश के एक कांग्रेसी विधायक को फ्लाइट छूटने पर इतना गुस्सा आया कि वह एयर इंडिया की स्टाफ पर बिफर गए। कारण ये थे कि महिला स्टाफ ने उन्हें एयरपोर्ट देरी से पहुंचने पर विमान में चढऩे से रोक दिया। विधायक पर महिला स्टाफ के साथ दुव्र्यवहार करने का आरोप लगाया गया है। घटना सात अगस्त को रायपुर एयरपोर्ट की है।

छत्तीसगढ़ के महासमुद विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक विनोद चंद्राकर पर एयर इंडिया की स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार करने का आरोप लगा है। घटना सात अगस्त को रायपुर एयरपोर्ट की है। विधायक ने ऐसा उस वक्त किया जब महिला स्टाफ ने उन्हें एयरपोर्ट देरी से पहुंचने पर विमान में चढऩे से रोका।



छत्तीसगढ़ के महासमुद विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक विनोद चंद्राकर एयरपोर्ट देरी से पहुंचे। इसपर एयर इंडिया की महिला स्टाफ ने उन्हें विमान में चढऩे से रोक दिया। ये जानकारी एयर इंडिया की ही रिपोर्ट में दी गई है। विमान में पांच यात्रियों को छोड़कर बाकी सभी सवार हो गए थे।

यात्रियों के लिए इंतजार किया गया और कई बार घोषणा भी की गई। एक यात्री ने सूचना दी और बताया कि अन्य लोग रास्ते में हैं। एयर इंडिया एयर ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड (एआईएटीएसएल) प्रभारी, अन्य ग्राहक सेवा एजेंट (सीएसए) के साथ एयर इंडिया के एयरपोर्ट मैनेजर, रायपुर (महिला स्टाफ) ने भी उनका इंतजार किया।


WP-GROUP

यात्री 18.13 बजे तक नहीं आए और सभी हवाई अड्डे के प्रबंधक (एपीएम) और अन्य लोग उड़ान भरने के लिए तैयार थे। एयर इंडिया की रिपोर्ट में कहा गया है कि उड़ान का दरवाजा 18.18 घंटे पर बंद हुआ और 18.30 बजे उड़ान भरी गई।

एक समाचार एजेंसी ने विधायक से उनपर लगे आरोपों पर बात की तो उन्होंने कहा मैं एक विधायक हूं। मुझे पता है कि किसके साथ कैसे व्यवहार करना है। मैं 17.30 पर ही एयरपोर्ट पहुंच गया था। उन्होंने सीसीटीवी की जांच कराने की भी बात कही।

उन्होंने कहा-मेरा सामान दो बार चेक किया गया। अपने सामान की सुरक्षा जांच के कारण, मैं 18.05 बजे अंतिम गेट पर पहुंचा। मेरा और मेरे स्टाफ के सामान की दो बार सुरक्षा जांच के कारण, हमें अंतिम गेट तक पहुंचने में देरी हुई। एयर इंडिया की महिला कर्मचारी मुझ पर चिल्ला रही थी और हमें उसमें सवार नहीं होने दिया। हालांकि जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि विधायक ही चिल्लाए थे।

यह भी देखें : 

ट्रैफिक जवानों के बार-बार कागजात मांगने से परेशान शख्स ने ढूंढ निकाला फार्मूला…अब नहीं होती परेशानी…