Breaking News छत्तीसगढ़ सियासत स्लाइडर

भूपेश कैबिनेट की बैठक आज…लाया जा सकता है कई तहसीलों को सूखा घोषित करने का प्रस्ताव…साथ ही किसानों के लिए सरकार कर सकती है ये घोषणा…

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज 13 अगस्त को शाम 7 बजे उनके रायपुर स्थित निवास में केबिनेट की बैठक आयोजित की गई है। बैठक में 15 अगस्त के मौके पर मुख्यमंत्री के भाषण को मंजूरी दी जाएगी। साथ ही सरकार खेती-किसानी की स्थिति की समीक्षा करेगी।

पिछले कुछ दिनों से हुई जोरदार बारिश के बाद अब किसानों को राहत मिली है लेकिन कई जिलों में अभी भी बारिश कम ही हुई है। ऐसे जिलों के लिए सरकार कोई घोषणा कर सकती है।



किसानों को भी भूपेश सरकार की इस बैठक का इंतजार है। किसान सरकार द्वारा खेती-किसानी के लिए उन्हें कुछ राहत देने की आस लगाए बैठी है। विलंब से बारिश होने के कारण रोपा-बियासी का काम काफी पिछड़ गया है।

अभी भी रोपा-बियासी का काम चल रहा है और अभी और समय लगेगा। कई क्षेत्रों में तो अभी भी बारिश नहीं होने के कारण काम शुरू भी नहीं हो पाया है। जिससे किसान चिन्तित हैं।
WP-GROUP

इस बैठक में प्रदेश के बस्तर संभाग में हुई भारी बारिश से प्रभावित इलाकों के हालात पर चर्चा की जा सकती है। इसके अलावा कुछ अहम फैसले भी लिए जा सकते हैं।

ज्ञात हो कि उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने हालही में बस्तर के बाढ़ प्रभावित इलाका का हेलीकाप्टर से हवाई सर्वे कर जायजा लिया था। उनके साथ बस्तर सांसद दीपक बैज एवं स्थानीय विधायक भी थे।



मंत्री श्री लखमा ने कहा था कि हवाई सर्वे का जायजा लेने के बाद वे इसकी रिपोर्ट तैयार कर मुख्यमंत्री को सौपेंगे। संभावना जताई जा रही है कि आज शाम को होने वाली मंत्रिमंडल की बैठक में इस रिपोर्ट को रखा जा सकता है जिस पर चर्चा कर कुछ अहम फैसले भी लिए जा सकते हंै।

विदित हो कि प्रदेश के कुछ जिलों में अभी भी औसत से कम बारिश हुई है। जिसके चलते वहां सूखे की स्थिति है। बैठक में कम वर्षा से प्रभावित कई तहसीलों को भी सूखा घोषित करने का प्रस्ताव लाया जा सकता है। इसके अलावा बैठक में खरीफ फसलों की स्थिति पर भी चर्चा की जा सकती है। वहीं राजस्व विभाग से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण फैसले भी लिए जा सकते हैं।

यह भी देखें : 

रहस्यमय ढंग से लापता हुए डॉ. सुल्तानिया इंदौर में मिले…बड़े भाई को फोन पर बताया सकुशल हैं…फ्लाइट से रायपुर लाया जा रहा…

Do Subscribe!!!

हमसे जुड़ें