Breaking News छत्तीसगढ़ सियासत स्लाइडर

बस्तर में वनों की कटाई पर तत्काल प्रभाव से रोक…इलाके में चल रहे कार्यों पर भी लगाई गई बंदिश…बस्तर के प्रतिनिधियों की मांगों पर CM ने दी सहमति…फर्जी ग्राम सभा की भी होगी जांच…

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मंगलवार को मंत्रालय में विधायकों के साथ बैठक ली। बैठक में बस्तर सांसद दीपक बैज एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविंद नेताम की अगुवाई में दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा स्थित बैलाडिला की पहाड़ पर खनन के विरोध में धरना-प्रदर्शन कर रहे आदिवासियों की प्रतिनिधि मंडल ने सीएम से मुलाकात कर अपनी बात रखी।

सीएम ने उनकी सभी मांगों पर सहमति दे दी है। इसके साथ ही अब बस्तर में वनों की कटाई पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है। क्षेत्र में चल रहे फर्जी कार्यों पर भी बंदिश लगा दी है। सीएम ने कहा है कि फर्जी ग्राम सभाओं की भी जांच होगी।

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में तथा वरिष्ठ कांग्रेस नेता व मंत्री मोहम्मद अकबर की उपस्थिति में प्रारंभ हुई इस बैठक में मुख्य रूप से एनएमडीसी बैलाडीला लौह अयस्क खदान परियोजना को लेकर चर्चा की गई। ज्ञात हो कि इस परियोजना अंतर्गत दंतेवाड़ा के डिपाजिट-13 को लेकर इस समय माहौल गर्म है।

बस्तर के आदिवासियों के आस्था के प्रतीक माने जाने वाले पहाड़ी पर खनन की अनुमति अडानी गु्रप को दिया गया है। इस बात को लेकर बस्तर के आदिवासी काफी आक्रोशित हो उठे हैं। वर्तमान में पूर्ववर्ती सरकार और राज्य के कांग्रेस सरकार के मध्य आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है।



ज्ञात हो कि डिपाजिट-13 में किसी भी कीमत पर आदिवासी खनन होने नहीं देना चाहते। इसके लिए बस्तर के दूर-दराज और सुदूर अंचलों से भी आदिवासी विरोध करने एनएमडीसी के सामने डटे हुए हैं। दूसरी ओर राजनीतिक पार्टियां और कुछ क्षेत्रीय संगठन भी खनन के विरोध में लामबंद हो चुके हैं। इस विषम परिस्थितियों को देखते हुए ही आज बस्तर के विधायकों के साथ मुख्यमंत्री ने मंत्रणा की।

बताया जाता है कि बस्तर से आए विधायकों ने एक स्वर में मुख्यमंत्री से मांग की है कि वनों की कटाई पर तत्काल रोक लगाई जाए। इसके अलावा वर्ष 2014 के फर्जी ग्रामसभा के आरोप की जांच कराई जाए। क्षेत्र में संचालित कार्यों पर तत्काल रोक लगाई जाए तथा राज्य सरकार की ओर से भारत सरकार को पत्र लिखकर जनभावनाओं की जानकारी दी जाए।

ज्ञात हो कि प्रदेश के दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा स्थित बैलाडिला की पहाड़ पर खनन को लेकर आदिवासियों के आक्रोश को दूर करने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कहने पर सांसद दीपक बैज धरना स्थल पहुंचकर आंदोलनकारियों से बात की थी।

WP-GROUP

सांसद श्री बैज कल बैलाडिया पहुंचकर आंदोलनकारियों से भेंट की और उनकी मांगों को गंभीरता से सुना और समझा। श्री बैज आंदोलनकारियों को आश्वासन दिया था कि मंगलवार को वे आंदोलनकारियों के प्रतिनिधि मण्डल को रायपुर ले कर जाएंगे और प्रतिनिधिमण्डल के साथ मुख्यमंत्री श्री बघेल से भेंट करेंगे। ताकि आदिवासियों की मांगों सहित सभी पहलुओं पर मुख्यमंत्री के समक्ष विचार-विमर्श कर उसका समुचित समाधान निकाला जा सके।

प्रतिनिधि मंडल ने सीएम के समक्ष जो मांगे रखी हैं उसमें वनों की कटाई पर तुरंत रोक, वर्ष 2014 के फर्जी ग्राम सभा के आरोप की जांच कराई जाएगी, क्षेत्र में संचालित कार्यो पर तत्काल रोक लगाई जाए एवं राज्य सरकार की ओर से भारत सरकार को पत्र लिख कर जन भावनाओं की जानकारी दी जाए। इस पर सीएम भूपेश बघेल ने सभी मांगों को मान ली है। सीएम ने कहा कि वनों की कटाई पर तुरंत रोक लगा दी जाएगी। वर्ष 2014 के फर्जी ग्राम सभा के आरोप की जांच कराई जाएगी।

यह भी देखें : 

विधानसभा का मानसून सत्र 12 जुलाई से…होगी कुल 6 बैठकें…अधिसूचना जारी…द खबरीलाल ने पहले ही बाता दी थी तारीख..