ट्रेंडिंग देश -विदेश वायरल सियासत स्लाइडर

मोदी की बंपर जीत पर भूल ना जाना इस भाजपा प्रत्याशी को… नतीजों के घट-बढ़ से लगातार अटकती रही सांसें…आखिर में सिर्फ 181 वोटों से ही जीत पाए…तो खुशी का…जानें सबसे कम वोटों से जीते अन्य प्रत्याशियों को…

लोकसभा चुनावों में जहां एक ओर कई प्रत्याशियों ने 5 लाख तक के अंतर से जीत दर्ज की है, तो वहीं कई प्रत्याशी ऐसे भी हैं, जिन्होंने महज सैकड़ा ही पारकर अपनी जीत दर्ज की है।

तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा के बंपर जीत में ऐसे प्रत्याशियों को भुलाया तो नहीं जा सकता है, क्योंकि इन्होंने भी तो सबसे कम वोटों से जीत दर्ज करने वालों की सूची में अपना स्थान बनाया है। तो हम आपको बताने जा रहे हैं, कुछ ऐसे प्रत्याशियों के बारे में जिन्होंने सैकड़ा पार कर ही जीत दर्ज की है।



इसमें भी सबसे ऊपर में नाम आ रहा है- उत्तरप्रदेश के मछली शहर सीट से भाजपा प्रत्याशी भोलानाथ का, जिन्होंने महज 181 वोटों से ही जीत दर्ज की है।

तो जाहिर है, इतनी लगातार हो रही मतगणना में इनकी सांसें तो अटकती ही रही होगी, लेकिन अंत भला तो सब भला की तर्ज पर जीत के साथ चेहरे की मुस्कान कुछ अलग ही बयां करती हैं। इन्होंने बसपा के त्रिभुवन राम पर बहुत छोटे अंतर से जीत दर्ज की।
WP-GROUP

दिल थामने वाला मुकाबला
बीजेपी के भोलानाथ को इस सीट पर 488397 वोट हासिल हुए और उनका वोट प्रतिशत 47.19 रहा. वहीं बसपा प्रत्याशी त्रिभुवन को 47.17 फीसदी वोट हासिल हुए लेकिन उनके वोटों की संख्या बीजेपी से 181 कम रह गई. आखिर में बसपा प्रत्याशी के खाते में 488216 वोट आए और उन्हें चुनाव में सबसे कम अंतर से शिकस्त मिली।

इसी तरह अंडमान निकोबार सीट पर कांग्रेस के कुलदीप राय शर्मा ने बीजेपी को विशाल जॉली को सिर्फ 1407 वोटों के शिकस्त दी। दूसरी ओर लक्षदीप में नेशनल कांग्रेस पार्टी के मोहम्मद फैजल ने सिर्फ 823 वोटों से कांग्रेस प्रत्याशी को हराया। झारखंड के खूंटी में बीजेपी के अर्जुन मुंडा ने कांग्रेस के कालीचरण मुंडा को महज 1445 वोटों से मात दी है।



इसी तरह पश्चिम बंगाल की आरामबाग सीट पर टीएमसी की अफरीन अली को बीजेपी के तपन कुमार रॉय पर सिर्फ 1142 वोटों से जीत मिली है। बिहार के जहानाबाद में भी दिलचस्प मुकाबला देखने को मिला जहां जेडीयू के चंदेश्वर प्रसाद ने आरजेडी के सुरेंद्र प्रसाद को 1751 वोटों से चुनाव हरा दिया।

यह भी देखें : 

मौजूदा सांसदों के थोक में टिकट काटने के बाद भी 91 में से 79 सीटों पर जीती भाजपा…छत्तीसगढ़ में भी की थी सबसे बड़ी स्ट्राइक…लगातार जीत रहे उनका भी टिकट काटकर नए को दिया था मौका…और परिणाम सामने…