Breaking News व्यापार स्लाइडर

SBI ने शुरू की ये खास सुविधा…लाखों ग्राहकों को घर बैठे फायदा…

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने खास ग्राहकों के लिए बड़ी सुविधा शुरू की है। इसके तहत ग्राहकों को बैंक से जुड़े काम कराने के लिए ब्रांच में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। बैंक का कर्मचारी खुद घर आकर ग्राहकों की मदद करेगा। इसका फायदा लाखों ग्राहकों को मिलने वाला है। आइए जानते हैं एसबीआई की इस खास सुविधा के बारे में।

दरअसल, केंद्रीय बैंक भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने सभी बैंकों को सीनियर सिटीजंस और दिव्यांगों के लिए विशेष सुविधाएं देने को कहा था। इसी के तहत अब SBI ने ‘Doorstep Banking’ की सुविधा शुरू की है। यह सुविधा 70 साल से अधिक उम्र के खाताधारक, दिव्यांगों और असहाय ग्राहकों को ही मिलेगी।



हालांकि इस सुविधा का फायदा उठाने के लिए कुछ शर्तें भी हैं। मसलन, खाताधारकों को केवाईसी पूरी करानी होगी। इसके अलावा मोबाइल नंबर भी रजिस्टर्ड करना होगा। बैंक की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक खाताधारक का घर होम ब्रांच से 5 किमी के भीतर होना जरूरी है।

ऐसे ग्राहकों को अपने होम ब्रांच में इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए मेडिकल सर्टिफिकेट जमा करना होगा। एसबीआई के ज्‍वाइंट खाता, बच्चों के खाते और नॉन-पर्सनल नेचर के खाते पर यह सुविधा नहीं मिलेगी। हालांकि ग्राहकों को एसबीआई डोरस्टेप बैंकिंग के जरिए कैश के लेन-देन पर 100 रुपये का चार्ज देना होगा।
WP-GROUP

वहीं नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन पर 60 रुपये का शुल्क लेगी। बैंक की ओर से Doorstep Banking के तहत जो ग्राहकों को जो सुविधाएं मिलेंगी उनमें कैश का लेन-देन, ग्राहक से चेक लेकर जाना, चेक बुक की एप्लीकेशन लेकर उसे पहुंचाना, ड्राफ्ट की डिलीवरी, टर्म डिपॉजिट से जुड़ी सलाह और लाइफ सर्टिफिकेट लेकर जाना है। इसके अलावा ग्राहकों के केवाईसी डॉक्‍युमेंट को भी बैंक के कर्मचारी घर से लेकर जाएंगे।

एसबीआई की इस खास सुविधा के बारे में विस्‍तार से जानकारी के लिए https://www।sbi।co।in/portal/web/services/doorstep-banking-services लिंक पर क्‍लिक कर सकते हैं। इसके अलावा बैंक के ब्रांच में जाकर भी जानकारी ली जा सकती है।

यह भी देखें : 

VIRAL VIDEO : लूट के इरादे से एटीएम में घुस आया चोर…महिला को डराया…पर बैलेंस चेक करते ही उड़ गए उसके होश…फिर…

Share this...
Share on Facebook
Facebook
0Tweet about this on Twitter
Twitter
0Print this page
Print