टेक्नोलॉजी ट्रेंडिंग

अब इलेक्ट्रिक स्कूटरों में नहीं होगा आग लगने का खतरा, लॉन्च हो गई फायरप्रूफ बैटरी

नई दिल्ली. पिछले कुछ महीनों में इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग लगने की कई घटनाएं सामने आई हैं, लेकिन अब यह समस्या दूर होने जा रही है. हाल ही में इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर बनाने वाली कंपनी कोमाकी (Komaki) ने फायरप्रूफ बैटरी लॉन्च कर दी है. यह बैटरियां अगले महीने से सभी कंपनी के वाहनों में उपलब्ध होगी. कंपनी के अनुसार, उसने लिथियम-आयन फेरो फॉस्फेट (LiFePO4) बैटरी बाजार में पेश की है, जो ज्यादा फायरप्रूफ है.

कोमाकी इलेक्ट्रिक डिवीजन के निदेशक गुंजन मल्होत्रा ने कहा, “यह सफलता कोमाकी को बाजार में एक विश्वसनीय ब्रांड के रूप में स्थापित करेगी. इन बैटरियों को मोबाइल एप्लिकेशन से भी मॉनिटर किया जा सकेगा. इससे स्कूटर चलाने वाले यूजर और डीलरों की स्थिति की जानकारी मिलती रहेगी.” उन्होंने आगे कहा कि इन बैटरियों को इलेक्ट्रिक व्हीकल कंपनियां भी रिपेयर कर सकेंगी, जिससे इनके परिवहन पर होने वाला खर्च भी बचेगा.

ज्यादा सुरक्षित है बैटरी
कंपनी ने दावा किया कि LiFePO4 बैटरियों की सेल में आयरन होता है, जिससे बैटरी ज्यादा सुरक्षित होती है और अत्यधिक मामलों में भी आग से सुरक्षित रहती है. इसके अलावा बैटरी में सेल की संख्या भी एक तिहाई कम कर दी गई है, जिससे बैटरी पैक के अंदर पैदा होने वाली गर्मी कम हो जाएगी. LiFePO4 की लाइफ साइकिल भी 2500-3000 है, जो NMC (निकल, मैंगनीज और कोबाल्ट) बैटरी की लाइफ साइकिल 800 की तुलना में कहीं अधिक है.

एडवांस सिस्टम से लैस है बैटरी
कंपनी ने जानकारी दी, “हार्डवेयर बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम (बीएमएस) को अब एडवांस कम्यूनिकेशन बेस्ड प्रोटोकॉल में बदल दिया गया है, जो हर सेकंड बैटरी की स्थिति को पढ़ेगा और अपडेट करेगा. इसके अलावा बैटरियों में एक एक्टिव बैलेंसिंग मैकेनिज्म विकसित किया गया है और हर कुछ सेकंड में बैटरी सेल को सक्रिय रूप से बैलेंस करने के लिए बैटरी में जोड़ा गया है.