खेलकूद ट्रेंडिंग

IND vs ENG Test: हनुमा की एक गलती पड़ी भारी, टपकाया बेयरस्टो का कैच और फिसल गया मैच

टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच पांचवां टेस्ट एजबेस्टन में खेला जा रहा है. मैच में अब पांचवें दिन (5 जुलाई) का खेल ही बाकी है और इंग्लैंड को टेस्ट मैच जीतने के लिए सिर्फ 119 रनों की जरूरत है. उसके पास अभी भी 7 विकेट बाकी हैं. चौथे दिन का खेल खत्म होने तक जो रूट 76 और जॉनी बेयरस्टो 72 रन बनाकर नाबाद हैं.

मैच में टीम इंडिया ने इंग्लैंड को मुकाबले में 378 रनों का टारगेट दिया था. चौथे दिन इंग्लैंड ने मजबूत शुरुआत की और बगैर विकेट गंवाए 107 रन बना लिए थे. मगर यहां टीम इंडिया ने दो रन के अंदर ही इंग्लैंड के तीन खिलाड़ियों को पवेलियन भेजकर वापसी कर ली थी.

हनुमा और पंत ने कैच का मौका गंवाया
इसके बाद भारतीय टीम की नजरें बेयरस्टो और रूट के विकेट पर थीं. बेयरस्टो को आउट करने के दो मौके भी मिले, लेकिन भारतीय फील्डर्स ने यह कैच छोड़कर बेयरस्टो को जीवनदान दे दिया. इसमें एक आसान कैच हनुमा विहारी ने छोड़ा, तो दूसरा कैच लेने का मौका विकेटकीपर ऋषभ पंत के पास था. बेयरस्टो के कैच ले लिए जाते, तो मैच का रुख कुछ ओर ही होता, मगर अब भारतीय टीम पर हार का खतरा मंडराने लगा है.

दरअसल, यह वाकया तब का है, जब बेयरस्टो क्रीज पर आए थे और 14 रन बनाकर खेल रहे थे. उस वक्त इंग्लैंड का स्कोर 153 रन पर तीन विकेट था. मोहम्मद सिराज की बॉल पर बेयरस्टो के बैट का किनारा लगा और बॉल चौथी स्लिप तरफ गई. वहां खड़े हनुमा विहारी कैच को जज नहीं कर सके और आसान सा मौका गंवा दिया. इस पर बेयरस्टो को चार रन भी मिले. यदि यहां कैच लपक लिया जाता, तो मैच भारत की झोली में आ सकता था.

इसके बाद अलावा भी मैच में बेयरस्टो को आउट करने का एक मौका और मिला था. इस बार ऋषभ पंत के पास कैच लपकने का मौका था, लेकिन उन्होंने भी यह मौका गंवा दिया. हालांकि बॉल पंत से थोड़ी दूर रह गई, लेकिन कोशिश अगर ठीक होती, तो कैच लपका जा सकता था. क्रिकेट में कहा जाता है कि मैच जीतने के लिए कैच का मौका बनाना ही पड़ता है.