ट्रेंडिंग वायरल

बचपन से देख रहे हैं… लेकिन कभी सोचा पंखे में 3 ब्लेड ही क्यों होते हैं? आज जवाब भी जान लीजिए…

गर्मियों का मौसम शुरू हो चुका है. पंखे, कूलर और एसी अपनी नींद से जाग उठे हैं और लोगों गर्मी से निजात दिलाने के काम जुट गए हैं. अब मौसम कैसा हो चुका है यो तो आपको भी मालूम है ही. तो हम मौसम के हाल पर आपको ज्ञान बिलकुल नहीं देने वाले हैं. अच्छा एक बात बताइएगा, जब आप पंखे के नीचे बैठकर पसीना सुखाते हैं, तो उसे देखकर क्या कभी आपके दिमाग कोई सवाल आया है?

खैर, बढ़िया हवा देने वाले पंखे के बारे में ये तो पूछ ही लेते होंगे कि अरे भाई कौन सी कंपनी का है. बहुत जल्दी ही पसीना सुखा दे रहा है. मगर कभी ये सोचा है कि कमरे की छत से लटक रहे सीलिंग फैन में ज्यादातर तीन ही ब्लेड क्यों होते हैं?

पांच ब्लेड वाले पंखे
भारत में ज्यादातर तीन ब्लेड वाले सीलिंग फैन ही देखने को मिलते हैं, लेकिन दुनिया के कई हिस्सों में पांच ब्लेड वाले पंखे भी होते हैं. अब तीन ब्लेड वाले सीलिंग फैन के पीछे क्या है वजह आइए जान लेते हैं.
अब क्या है कि ऐसा भी हो सकता है कि किसी ने डिजाइन करने में ही गड़बड़ी कर दी हो, लेकिन ऐसा नहीं है. दरअसल, बात ये है कि एक बढ़िया सीलिंग फैन से आप क्या चाहेंगे? यही न कि वो कमरे में शोर कम मचाए और आपकी तरफ हवा अधिक फेंके. तकनीकि रूप से माना जाता है कि सीलिंग फैन की ब्लेड जितनी कम होगी, उसकी हवा फेंकने की क्षमता उतनी ही अधिक होगी.

क्या कहती है रिसर्च?
रिसर्च के अनुसार, अच्छे से हवा फेंकने के लिए तीन ही ब्लेड को उपयुक्त माना जाता है. अधिक ब्लेड होने पर पंखे के मोटर पर दबाव पड़ता है और इसकी वजह से हवा फेंकने की उसकी क्षमता प्रभावित होती है.

हालांकि, कई जगहों पर इसका डिजाइन वातावरण पर भी निर्भर करता है. अमेरिका, कनाडा और बाकी के ठंडे मौसम वाले देशों में चार ब्लेड वाले पंखे होते हैं और इनका इस्तेमाल पूरे कमरे में हवा को फैलाने के लिए होता है. ना कि गर्मियों में पसीने सुखाने के लिए.

तीन ब्लेड के फायदे
भारत एक गर्म देश है. सीलिंग फैन यहां कमरे में ठंडक पहुंचाता है. इसलिए यहां तीन ब्लेड वाले पंखे का इस्तेमाल अधिक होता है. कम ब्लेड होने की वजह से ये तेजी से चलता है और आवाज भी नहीं करता. चार ब्लेड की तुलना में तीन ब्लेड वाले पंखे कम बिजली खींचते हैं. साथ ही आम लोगों के बजट में भी फिट भी बैठते हैं.