Breaking News छत्तीसगढ़ स्लाइडर

छत्तीसगढ़ में सिर्फ ढाई दिन की वैक्सीन बची… नहीं आई तो रोकना पड़ेगा वैक्सीनेशन, 10 दिन पहले केंद्र से मांगे थे 12 लाख टीके…

File Photo

कोरोना संक्रमितों की पिछले 24 घंटे में हुई मौत के मामले में छत्तीसगढ़ चौथे नंबर पर पहुंच गया है। जनवरी महीने के बाद पिछले सप्ताह प्रदेश में 53 लोगों की मौत हुई है, जो अब तक सर्वाधिक है। एक तरफ मौतें बढ़ रही हैं, वहीं वैक्सीनेशन भी खतरे में आ रहा है। अब छत्तीसगढ़ में सिर्फ ढाई दिन की कोरोना वैक्सीन बची है।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि अगर एक-दो दिन में वैक्सीन की खेप नहीं आई तो प्रदेश में टीकाकरण रोकना पड़ जाएगा। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जनवरी से अब तक प्रदेश को लगभग 16 लाख 77 हजार 540 वैक्सीन की खुराकें मिली हैं इनमें 16 लाख कोविशील्ड और 77 हजार से 540 को-वैक्सीन शामिल हैं। इनमें से 14 लाख से अधिक डोज का इस्तेमाल किया जा चुका है।



प्रदेशभर के 1489 केंद्रों पर टीकाकरण चल रहा है। यहां सोमवार को शाम 6 बजे तक वैक्सीन की 2 लाख 62 हजार वैक्सीन की खुराकें ही बाकी हैं। एक दिन में प्रदेश में एक लाख से ज्यादा टीके लग रहे हैं, इसलिए वैक्सीन गुरुवार को दोपहर खत्म हो जाएगी।
राज्य सरकार ने 10 दिन पहले ही 12 लाख नए टीकों की मांग भेजी है। लेकिन अब तक संकेत नहीं मिले हैं कि वैक्सीन कब आएगी?

स्वास्थ्य मंत्री बोले- मजबूरन रोकना होगा : स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि केन्द्र ने वैक्सीन भेजने का आश्वासन दिया था, लेकिन अभी तक आई नहीं हैं। प्रदेश में अभी दो लाख कोविशील्ड और 62 हजार को-वैक्सीन के डोज बचे हैं। रोजाना एक लाख लोगों के वैक्सीनेशन को भी कम नहीं कर सकते। यही वजह है कि वैक्सीन की खेप नहीं आई तो मजबूरन गुरुवार को टीकाकरण रोकना पड़ेगा, या वैक्सीन खत्म होने से यह खुद ही रुक जाएगा।

लगातार बढ़ रहा मौत का आंकड़ा
स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक राज्य में न केवल कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है बल्कि मृतकों की संख्या भी बढ़ रही है। पिछले सप्ताह 53 लोगों की मौत हुई है जबकि फरवरी एवं मार्च के पहले सप्ताह में प्रति सप्ताह 27-29 लोगों की मौत हुई थी।
जनवरी के अंतिम सप्ताह में 43 लोगों की मौत हुई।

मृतकों में 60 वर्ष से अधिक 62 फीसदी तथा 45-59 साल के 21 प्रतिशत लोग हैं। देश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना से कुल 212 लोगों की मौत हुई है। 10 मौत के साथ छत्तीसगढ़ चौथे नंबर पर है। महाराष्ट्र 99 मौत के साथ पहले नंबर पर है जबकि पंजाब में 44, केरल में 13 मौते हुई हैं। वहीं तमिलनाडू में 9 तथा गुजरात में 7 लोगों की मौत हुई है।

यह भी देखें:

PM Kisan: 31 मार्च तक करा लें रजिस्ट्रेशन, सीधे खाते में आएंगे 4000 रुपये, जानें कैसे?