देश -विदेश यूथ स्लाइडर

क्या फिर बंद हो सकते है स्कूल कॉलेज? TSC की रिपोर्ट में हुआ चौकाने वाला खुलासा…

File Photo

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज यानी टीसीएस के द्वारा तैयार विश्लेषण रिपोर्ट सामने आई है जो चिंता बढ़ाने वाली है. पुणे डिविजनल कमिश्‍नर सौरव राव ने इस रिपोर्ट की बातों को साझा किया है. उन्होंने बताया कि रिपोर्ट में जो बात सामने आई है उसने हमारी चिंता बढ़ा दी है. उन्होंने कहा कि रिपोर्ट की मानें तो पब्लिक प्लेस,स्कूल और कॉलेज से कोरोना संक्रमण का प्रसार सबसे ज्यादा हो रहा है.

मॉल, रेस्तरां और बार भी कोरोना के संक्रमण के प्रसार के कारकों में से हैं. राव ने क‍हा कि रिपोर्ट की मानें तो पुणे में कोरोना का संक्रमण इस वक्त सबसे खराब स्थिति में है. यहां पिछले साल सितंबर-अक्टूबर रिकार्ड कोरोना के मामले सामने आये थे. उन्होंने कहा कि मैंने टीसीएस के एक्सपर्ट से अनुरोध किया है कि इस बात की भी रिपोर्ट तैयार करें के वैक्सीन लगने के बाद की स्थिति क्या है.

वैक्सीन के बाद गंभीर बीमारी से जूझ रहे लोगों पर क्या प्रभाव पड़ा और डेथ रेट क्या रहा…टीसीएस के एक्पर्ट नये आंकड़ों के साथ 10 मार्च को सामने आएंगे. आगे राव ने कहा कि रिपोर्ट से ये बात सामने आई है कि स्कूल और कॉलेज से कोरोना का संक्रमण तेजी से पांव पसार रहा है. आगे हम गर्मी की छुट्टी पर ध्‍यान केंद्रीत किये हुए हैं. मुझे नहीं लगता कि कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए स्कूल और कॉलेज में पढ़ाई करवाने से ज्यादा नुकसान होगा.

लगातार दूसरे दिन कोरोना के मामले 10000 से अधिक :

इधर महाराष्ट्र में शनिवार को लगातार दूसरे दिन कोरोना वायरस संक्रमण के 10000 से अधिक नये मरीज सामने आने से संक्रमितों की संख्या 22,08,586 तक पहुंच गयी. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि विदर्भ, पुणे और मुम्बई में तेजी से नये मामले सामने आने से पिछले 13 दिनों में एक लाख मामले जुड़े हैं. विभाग के मुताबिक राज्य में 10,187 नये मामले सामने आये. वहीं, 47 और लोगों की मौत होने से मृतकों की कुल संख्या बढ़कर 52440 हो गई.

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 22 लाख के पार: 

महाराष्ट्र में 21 फरवरी को संक्रमितों की संख्या 21 लाख को पार कर गयी. उससे पहले करीब 31 दिनों में एक लाख नये मामले जुड़े थे. विदर्भ क्षेत्र तथा मुम्बई एवं पुणे में तेजी से नये मामले बढ़ने से 21 फरवरी के बाद महज 13 दिनों में एक लाख नये मरीज आंकड़े में जुड़ गये और यह शनिवार को यह संख्या 22 लाख के पार चली गयी.

विभाग ने बताया कि पिछले 24 घंटे में 6080 मरीजों के स्वस्थ होने के साथ ही राज्य में अब तक 20,62,031 रोगी ठीक हो चुके हैं. विभाग के अनुसार, फिलहाल 92,897 मरीज उपचाराधीन हैं तथा मरीजों के स्वस्थ होने की दर 93.36 फीसदी है. मरीजों की मौत की दर 2.37 फीसद है. मुंबई में शनिवार को कोरोना वायरस के 1,188 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 3,32,208 हो गई, जबकि इस महामारी से पांच लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 11,500 पर पहुंच गई.