छत्तीसगढ़ स्लाइडर

रायपुर: एसटीएससी हॉस्टल में हुई रेगिंग मामले में हॉस्टल सुप्रीटेंटेंड सस्पेंड…सहायक आयुक्त को जांच के निर्देश…

रायपुर। बीती रात डीडी नगर स्थित अनुसूचित जनजाति छात्रावास में रह रहे जूनियर विद्यार्थियों के साथ वरिष्ठ विद्यार्थियों द्वारा जबरिया ली गई रेगिंग एवं एक विद्यार्थी को क्रूरतापूर्वक पीटे जाने की घटना को संज्ञान में लेकर अपर कलेक्टर ने आज पीडि़त विद्यार्थियों का हॉस्टल पहुंचकर संज्ञान लेकर मामले से संबंधितों का बयान लिया।



ज्ञातव्य है कि उक्त मामले में छात्रावास अधीक्षक महेंद्र बघेल द्वारा बरती गई लापरवाही प्रमाणित होने पर अपर कलेक्टर पदमिनी भोई ने तत्काल प्रभाव से उन्हें निलंबित कर लिया। मामले की जांच के लिए सहायक आयुक्त आदिम जाति विकास को कार्रवाई करने के निर्देश मौके पर ही भोई ने दिए। ज्ञातव्य है कि स्कूल कॉलेजों में नए विद्यार्थियों के साथ वरिष्ठ विद्यार्थियों द्वारा रेगिंग करने पर सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं।


WP-GROUP

उक्त मामले में शहर में जनचर्चा होने पर मामले की गंभीरता को समझते हुए अपर कलेक्टर ने फौरन हॉस्टल का दौरा कर हॉस्टल से गायब तीन विद्यार्थियों की पतासाजी की। अन्य छात्रों ने तीनों छात्रों के पुरखौती मुक्तांगन घूमने जाने की जानकारी देते हुए बताया कि वे देर रात तक वापस आ जाएंगे कहकर गए थे। रात में नहीं लौटने पर अपर कलेक्टर ने छात्रावास अधीक्षक द्वारा मामले को गंभीरता से नहीं लेने पर मौके पर ही जमकर फटकार लगाई।



उक्त मामले में रसोईयां व अन्य ने रेगिंग की घटना होने से इंकार कर अपर कलेक्टर को गुमराह करने की भरपूर कोशिश की। बावजूद इसके अपर कलेक्टर पदमिनी ने मौके की नजाकत को समझते हुए तत्काल कार्रवाई की। उन्होंने निरीक्षण के दौरा हॉस्टल की उपस्थिति पंजी का निरीक्षण किया। ज्ञातव्य है कि हॉस्टल में करीब सौ छात्र रहकर पढ़ाई कर रहे हैं।

यह भी देखें : 

रायपुर: रिमिजियुस एक्का राज्य निर्वाचन आयोग के बने सचिव…