क्राइम छत्तीसगढ़ स्लाइडर

रायपुर : चचेरे दामाद ने की थी महिला व दो बच्चों की हत्या…चोरी पकड़े जाने के डर से रचा षड्यंत्र…हुआ गिरफ्तार

रायपुर। महिला व दो बच्चों की हत्या के मामले में चोरी पकड़े जाने के डर से चचेरे दामाद ने ही षडंयत्र रचकर की थी हत्या। ज्ञातव्य हो कि उरला थाना क्षेत्र के ग्राम बाना में एक घर के अंदर अधजली हालत में मां व दो बेटे की लाश मिलने पर पुलिस ने शक के आधार पर मृतिका के रिलेटिव दामाद को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी ने देररात अपना गुनाह कबूल कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार की सुबह उरला के ग्राम बाना में अधजली हालत में महिला दुलौरिन बाई निषाद व दो बेटे सोनू निषाद 11वर्ष व संजय निषाद 9 वर्ष की लाश का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया था।



घटना की बारिकी से जांच करने पर दुलौरिन बाई व दोनों बेटों के सिर पर किसी भारी वस्तु से मारने का निशान देखकर पुलिस इसे सोची समझी हत्या मानकर महिला के चचेरे दामाद को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ किया तब मामले का खुलासा हुआ।

आरोपी चन्द्रकान्त निषाद ग्राम पाटन ने पुलिस को बताया कि वह अपनी चचेरी सास दुलौरिन बाई के खाते से 1लाख 40 हजार रुपये एटीएम के माध्यम से निकाल लिया था। महिला बुधवार को चन्द्रकांत को खाते से निकाले गये रुपये के बारे रिपोर्ट लिखवाने की बात कहकर उसे फोन कर बुलाया था रिपोर्ट की बात सुनकर चोरी पकड़े जाने की डर से आरोपी ने षडयंत्र रचकर अपनी चचेरी सास व दो सालों को लकड़ी की पटिया से मारकर हत्या कर दिया उसके बाद पेट्रोल डालकर जलाकर फरार हो गया व सुबह वापस आकर आस-पास के लोगों को बुलाकर किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा हत्या किये जाने का हल्ला मचाना शुरु कर दिया।


WP-GROUP

महिला का पति लोकनिर्माण विभाग में कार्यरत था उसकी दुर्घटना में मृत्यु हो जाने के बाद मृतिका को अनुकंपा नियुक्ति मिली थी एटीएम से पैसा निकालने नही आने के चलते वह अपने चचेरे दामाद को रुपये निकालने में मदद लेती थी इसी दौरान आरोपी ने एटीएम अपने पास चोरी से रखकर महिला के खाते से पैसे निकालने लगा। पकड़े जाने के डर से वारदात को अंजाम दिया।

यह भी देखें : 

छत्तीसगढ़ : घरों में लगेगा स्मार्ट मीटर… मोबाइल की तरह होगा रिचार्ज