छत्तीसगढ़ सियासत स्लाइडर

शिवशंकर भट्ट और मंतूराम पवार के शपथ पत्र को आड़ बनाकर…कांग्रेस खेल रही है गंदा राजनीति…चिंतामणि चंद्राकर इसका प्रमाण है-श्रीचंद सुंदरानी

रायपुर। भाजपा के पूर्व विधायक और प्रदेश प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी ने आरोप लगाया कि शिवशंकर भट्ट और मंतूराम पवार एपिसोड केवल दंतेवाड़ा उपचुनाव को प्रभावित करने के लिए किया गया हैं।

कांग्रेस सरकार दंतेवाड़ा उप चुनाव से डर रही है। छत्तीसगढ़ में किस प्रकार आतंक और दबाव की राजनीति चल रही है। चिंतामणि चंद्राकर का शपथ पत्र इसका प्रमाण है।एकात्म परिसर में आयोजित पत्रकारवार्ता को दौरान श्रीचंद सुंदरानी ने कहा कि इससे पहले के दो शपथ पत्र जो आए हैं, वह कैसे आए हैं, चिंतामणि चंद्राकर का शपथ पत्र उसका खुलासा कर रहा है।



आरोपियों से शपथ पत्र लिखवाकर उन्हें दबाव व प्रलोभन दिया जा रहा है। अभियुक्तों के शपथ पत्र अदालत में 164 के तहत कायम नहीं हो पाने की आशंका में सरकार अब चंद्राकर पर दबाव और डोरे डाल रही है। शपथ पत्र में चिंतामणि चंद्राकर ने कहा है पुलिस ने उसे दिन भर प्रताडि़त किया, जो कोर्ट के आदेश की खुली अवहेलना है।

कोर्ट ने इस मामले में किसी भी तरह की कार्रवाई पर रोक लगाई है। इसमें एडीजी जीपी सिंह व डीएसपी अनिल बख्शी दोषी दिख रहे हैं। चिंतामणि के हलफनामे से यह सिध्द हो गया है कि सरकार अपने तंत्र के प्रभाव का उपयोग कर नान से संबंधित सभी जांच कार्रवाई को अपनी मंशानुरुप प्रभावित करने का काम कर रही है, जो निंदनीय है।


WP-GROUP

इससे पहले आए दोनों शपथ पत्रों से यह स्पष्ट प्रतीत हो रहा है कि कांग्रेस सरकार में बैठे लोग सरकारी तंत्र का डर दिखाकर इस तरह का बयान दिलवा रहे हैं, जिससे भाजपा के नेताओं का चरित्र हनन हो सके। आगे सुंदरानी ने कहा कि शिवशंकर भट्ट और मंतूराम पवार के शपथ पत्र को आड़ बनाकर गंदा राजनीतिक खेल खेला जा रहा है।

यह भी देखें : 

महापौर-अध्यक्ष पदों के लिए होगा आरक्षण…18 सिंतबर को शहीद स्मारक भवन में…