Breaking News छत्तीसगढ़ सियासत स्लाइडर

पुरातत्व एवं संस्कृति विभाग के इस अधिकारी की नियुक्ति को लेकर उठे सवाल…मंत्री से की गई शिकायत…मध्य प्रदेश सरकार से भी मांगी गयी जानकारी…

रायपुर। छत्तीसगढ़ संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग में उपसंचालक के बतौर पर पदस्थ राहुल सिंह की नियुक्ति को लेकर राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (युवा इंटक) के मीडिया प्रभारी आशीष देव सोनी ने मंत्री अमरजीत भगत को आवेदन दिया है।

आशीष देव ने अपने आवेदन में कहा है कि संचालक संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग में उपसंचालक के पद पर पदस्थ राहुल सिंह की नियुक्ति संदेहास्पद है। राहुल सिंह को 1984 में तदर्थ नियुक्ति आदेश क्रमांक 2987/3662/सं/तीस/84, दिनांक 13 सितंबर 1984 को किया गया था।

आशीष देव ने अपने आवेदन में आगे कहा है कि जिस आदेश क्रमांक 1872/3662/सं/तीस/84, दिनांक 30 जून 1987 में प्रथम नियुक्ति दिनांक 1984 से ही अस्थाई नियुक्ति मानने का आदेश पारित किया गया, पीएससी के बिना किस विशेष परिस्थिति में नियुक्ति की गई, इसका कोई दस्तावेज उपलब्ध नहीं है।



उक्त नियुक्ति संदेहास्पद है। प्रथम नियुक्ति से संबंधित दस्तावेज मांगने पर दस्तावेज उपलब्ध नहीं होना बताया जा रहा है, जो संदेह को और पुख्ता करता है।

यदि यह पदन्नोति होती तो 1987 के उसी दिनांक से मान्य होती, किंतु यह अस्थाई नियुक्ति पत्रक है, वह भी पूर्व दिनांक 1984 से लागू होना कहा गया है, जो भर्ती नियमों के विरुद्ध है। विशेष परिस्थिति में कैबिनेट की मंजूरी का प्रावधान है, क्या इस नियुक्ति में कैबिनेट की अनुशंसा थी? यदि नहीं तो नियुक्ति ही फर्जी और कूटरचित प्रतीत होती है। 
WP-GROUP

आशीष देव सोनी ने इस मामले में आवेदन देते हुए मंत्री अमरजीत भगत से स्वयं संज्ञान लेते हुए कार्यवाही करने की मांग की है। उन्होंने इस आशय के दस्तावेज भी उपलब्ध कराएं हैं।

वहीं इस मामले में मंत्रालय, महानदी भवन, नया रायपुर से भी 22 फरवरी, 2019 को संस्कृति विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश की सचिव श्रीमती रेनु तिवारी को भी पत्र लिखा गया है। इसमें राहुल सिंह की नियुक्ति से संबंधित दस्तावेज उपलब्ध कराने कहा गया है।

राहुल सिंह की नियुक्ति

यह भी देखें : 

अयोध्या केस सुनवाई: रामलला के वकील से बोले जज- आपका नजरिया दुनिया का नहीं, जमीन के सबूत दिखाएं…मुख्य गुंबद के नीचे वाला स्थान भगवान राम का जन्मस्थान…

Do Subscribe!!!

हमसे जुड़ें