देश -विदेश

रेल हादसा रोकने ड्रोन से पटरियों की निगरानी

दिल्ली। रेल हादसों को देखते हुए रेलवे में अब पटरियों की निगरानी ड्रोन से कराने का फैसला लिया है। ड्रोन की मदद से न केवल पटरियों की देखरेख की जाएगी बल्कि निर्माण कार्य, ट्रेन के परिचालन और महत्वपूर्ण कार्यों की गतिविधियों की भी जानकारी हासिल की जा सकेगी। रेलवे ने अपनी परियोजनाओं की निगरानी के लिए एक नया तरीका अपनाने का फैसला किया है। भीड़ को संभालने तथा सभी मंडलों में रख-रखाव कार्यों पर नजर रखने के लिए ड्रोन की मदद लेने का फैसला लिया गया है। रेलवे ने कहा है कि रेलवे की विभिन्न गतिविधियों, खासकर परियोजनाओं की निगरानी और पटरियों तथा रेलवे की आधारभूत संरचनाओं के रख-रखाव के लिए कैमरे का इस्तेमाल होगा। पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर डिवीजन ने पहले से ही इन ड्रोन को हासिल कर लिया है। इन ड्रोन का पश्चिमी मध्य रेलवे के तीनों डिवीजनों, जबलपुर डिवीजन, भोपाल डिवीजन और कोटा डिवीजन पर परीक्षण हो चुका है।