देश -विदेश

पुणे हिंसा के विरोध में महाराष्ट्र बंद: सड़कों पर सन्नाटा

मुंबई। पुणे के कोरेगांव भीमा इलाके में भड़की जातीय हिंसा के विरोध में बुधवार को बुलाए गए महाराष्ट्र बंद का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। ठाणे में धारा 144 लागू की गई है, जबकि औरंगाबाद में इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गई है। बंद की चलते ट्रेन से लेकर सड़क यातायात प्रभावित हुआ है। भागती-दौड़ती मुंबई की रफ्तार पर भी खासा असर पड़ा है। यहां के प्रसिद्ध डब्बावाला असोसिएशन ने बंद के चलते अपनी सेवा आज रद्द कर दी है। उधर संसद में भी इस मुद्दे के आज गूंजने के आसार हैं। कांग्रेस ने इसे लेकर स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है।
बंद की वजह से पूरे प्रदेश में बस सेवा पर सबसे बुरा असर पड़ा है। पुणे से बारामती और सतारा तक बस सेवा भी अगले आदेश तक के लिए रोक दी गई है। कई अन्य जगहों से भी बसों को रोके जाने की खबरें मिल रही हैं। प्रदर्शनकारी बसों को रोककर उनके पहियों की हवा निकाल रहे हैं। सड़कों पर वाहन कम होने से लोगों को काम पर जाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। प्रदर्शनकारियों के आक्रामक रुख को देखते हुए मुंबई के घाटकोपर के रमाबाई कॉलोनी और ईस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे में सुरक्षा बल तैनात किया गया है। ऐहतियात के तौर पर कर्नाटक और महाराष्ट्र के बीच बस सेवा को भी रोक दिया गया है।
ठाणे रेलवे स्टेशन में आंदोलनकारियों ने ट्रेन रोककर प्रदर्शन किया। जिसके चलते आवाजाही कुछ देर के लिए बाधित हुई। उधर नालासोपारा रेलवे स्टेशन पर बड़ी संख्या में प्रदर्शकारी रेलवे ट्रैक पर बैठ गए हैं। इसकी वजह से मुंबई की लोकल ट्रेन सेवा प्रभावित हुई है। मुंबई के ज्यादातर स्कूल भी आज बंद हैं।