छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में ईडी का छापा, रायपुर दुर्ग और राजनांदगाव में सराफा और कपड़ा कारोबारियों के खिलाफ चल रही है कार्रवाई

राजधानी में ईडी के ताबड़तोड़ छापेमारी चल रही है। कपड़े और ज्वेलरी में नामी ग्रुप के ठिकानों पर सुबह से जांच शुरू। इस टीम में रायपुर के अलावा नागपुर के भी अफसर शामिल हैं। इस ग्रुप के भिलाई, दुर्ग, नांदगांव समेत कई शहरों में कपड़े और जेवरात का कारोबार है।

साथ ही इनका‌ रोजाना बड़ा ट्रांजेक्शन है। पिछले साल इस समूह पर आयकर ने छापेमारी की थी। इनके शंकर नगर, सिविल लाइंस के घर और शोरूम में सशस्त्र जवानों की सुरक्षा के साथ कार्रवाई चल रही है।

दुर्ग में खंडेलवाल कॉलोनी में सीए सुनील जैन, श्री शिवम् स्टोर, जीवन प्लाज़ा में सीए राजेंद्र कोठारी के कार्यालय, सराफा लाइन स्थित सहेली ज्वेलर्स, नवकार ज्वेलर्स, प्रकाश सांखला और मदन जैन के भोइ पारा स्थित ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई जारी हैं।

साथ ही रायपुर पंडरी स्थित नाकोड़ा टेक्सटाइल व अन्य ठिकानों पर अधिकारी पहुंचे हैं। सुमित ज्वेलर्स, सदर बाजार हलवाई लाइन स्थित पगारिया ज्वेलर्स के अलावा शैलेन्द्र नगर स्थित निवास पर भी ईडी की टीम पहुंची।

8 सालों में ईडी ने दर्ज किए हैं साढ़े पांच हजार प्रकरण
प्रदेश में लगातार हो रही ईडी के छापेमारी पर प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा, कि मोदी सरकार के आने के बाद 8 सालों में ईडी ने सड़े पांच हजार प्रकरण दर्ज किए हैं। विपक्ष के नेता की आवाज दबाने के लिए और उनको परेशान करने के लिए यह कार्यवाही की जा रही है।

असम के मुख्यमंत्री जब कांग्रेस में थे तब उन पर 50 से ज्यादा प्रकरण दर्ज थे । जब उन्होंने भाजपा में प्रवेश किया तभी ईडी ने सारे प्रकरण बंद कर दिए। ईडी और केंद्र सरकार का दोहरा चरित्र जो विपक्ष को दबाकर अपने दल में शामिल करने का काम कर रही है उसे जनता देख रही है।