देश -विदेश सियासत स्लाइडर

कानून से ऊपर नहीं हैं राहुल और सोनिया गांधी, कांग्रेस फैला रही है अराजकता: भाजपा

नई दिल्ली. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा अपने नेताओं के खिलाफ की जा रही कार्रवाई के खिलाफ कांग्रेस के भारी विरोध के बीच भाजपा ने गुरुवार को विपक्षी पार्टी पर देश में अराजकता फैलाने के साथ ही ईडी को बदनाम करने और डराने का आरोप लगाया है. भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा, जिस प्रकार का आचरण कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं द्वारा किया जा रहा है, वह उचित नहीं है. पहले आप चोरी करते हैं, देश को लूटते हैं और उसके बाद पूरे देश में अराजकता फैलाने का प्रयास कर रहे हैं. भाजपा प्रवक्ता ने कांग्रेस नेताओं पर ईडी को बदनाम करने का आरोप लगाया और कहा कि उसके कामकाज में व्यवधान डालना तथा उसे डराना कतई उचित नहीं है. उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी या राहुल गांधी कानून से ऊपर नहीं हो सकती.

भाजपा नेता ने यह पलटवार पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की उस टिप्पणी को लेकर किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि वह प्रधानमंत्री मोदी से नहीं डरते है और उन्हें धमकाकर चुप नहीं कराया जा सकता. उन्होंने कहा कि वह देश और लोकतंत्र की रक्षा तथा सद्भाव कायम रखने के लिए काम करते आए हैं और आगे भी करेंगे.

राहुल गांधी को कानून तोड़ने से डर नहीं लगता
कांग्रेस ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के खिलाफ की जा रही ईडी की कार्रवाई के मद्देनजर आरोप लगाया है कि उनके साथ आतंकवादियों की तरह बर्ताव किया जा रहा है. केंद्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग का आरोप लगाते हुए कांग्रेस तथा अन्य विपक्षी पार्टियों ने आज भी संसद के दोनों सदनों में जोरदार हंगामा किया और कार्यवाही बाधित की. ईडी ने नेशनल हेराल्ड मामले में हाल ही में सोनिया गांधी और उससे पहले राहुल गांधी से पूछताछ की थी.

ईडी ने गुरुवार को कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को भी तलब किया था. भाटिया ने कहा कि राहुल गांधी भले ही कहते हैं कि उन्हें नरेंद्र मोदी से डर नहीं लगता है लेकिन वास्तविकता यह है कि उन्हें भ्रष्टाचार करने और कानून तोड़ने से डर नहीं लगता है. उन्होंने कहा, यह सच है कि उन्हें कानून से डर लगता है. यदि ऐसा नहीं है तो वह कानून का दरवाजा खटखटाते और ईमानदारी का प्रमाण लेकर आते. उन्होंने कांग्रेस पर चोरी और सीनाजोरी करने का आरोप भी लगाया.

2 हजार करोड़ की संपत्ति पर राहुल गांधी का दावा कैसे हो गया
भाटिया ने कहा, जनप्रतिनिधि होने के नाते उन्हें सवालों का जवाब देना चाहिए और हमें निशब्द कर देना चाहिए लेकिन उनकी चुप्पी कहती है कि इसमें कुछ काला है.

भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस के शीर्ष नेताओं ने अपने खिलाफ मामलों को खारिज करने के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाया था लेकिन दिल्ली उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय ने ऐसा करने से साफ इंकार कर दिया. उन्होंने कहा, सोनिया गांधी और राहुल गांधी को बताना चाहिए कि उन्हें उच्चतम न्यायालय और दिल्ली उच्च न्यायालय में भरोसा है कि नहीं. उन्होंने दावा किया कि यंग इंडियन में 38 प्रतिशत राहुल गांधी की और 38 प्रतिशत सोनिया गांधी की हिस्सेदारी है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की जेब से एक रुपया भी नहीं गया लेकिन 2,000 करोड़ रुपये की संपत्ति का दावा उनका हो गया. उन्होंने कहा, ऐसा हमने कभी नहीं देखा, ये कैसे हो गया राहुल गांधी इसका भी जवाब दें.