देश -विदेश सियासत स्लाइडर

महंगाई पर चर्चा के लिए तैयार हुई सरकार, संसद में सोमवार से दो दिन चलेगी बहस

Monsoon Session : विपक्ष (Opposition) के हंगामे के चलते दो हफ्तों तक संसद की कार्यवाही (Proceedings Of Parliament) ठप रहने के बाद अब सरकार महंगाई (Inflation) पर चर्चा के लिए तैयार हो गई है। सोमवार को लोकसभा (Lok Sabha) में तो मंगलवार को राज्यसभा (Rajya Sabha) में इस पर बहस होने के आसार हैं। लोकसभा में चर्चा को सोमवार के लिए नियम 193 (Rule 193) के तहत सूचीबद्ध किया गया है।

वहीं, राज्यसभा (Rajya Sabha) में अगले दिन नियम 176 (Rule 176) के तहत इस पर चर्चा होगी। बता दें, इस मुद्दे पर बहस के लिए नोटिस शिवसेना सांसद विनायक राउत (Shiv Sena MP Vinayak Raut) और कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी (Congress MP Manish Tewari) ने लोकसभा में दिया है जबकि राज्यसभा में राकांपा सांसद फौजिया खान (NCP MP Fauzia Khan) ने दिया था। दोनों सदनों में जवाब वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) द्वारा दिए जाने की संभावना है।

नए राज्यसभा सदस्यों को नायडू की सीख प्रदर्शन, सुधार व परिवर्तन पर दें खास ध्यान राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने नवनिर्वाचित सदस्यों को प्रदर्शन, सुधार और परिवर्तन की सीख दी। दो दिवसीय ओरियंटेशन कार्यक्रम में शनिवार को नायडू ने सदस्यों को सदन की कार्यवाही में नियमित रूप से शामिल होने की भी नसीहत दी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सदस्यों से बातचीत में नायडू ने कहा, गरिमा, अनुशासन, निष्ठा और समर्पण से आप बेहतर बनेंगे।

भारत ने वैश्विक कार्बन बजट में अपने हिस्से से किया काफी कम इस्तेमाल : केंद्र
केंद्र ने बताया है कि भारत ने वैश्विक कार्बन बजट में अपने हिस्से से काफी कम उपयोग किया है और उसका कार्बन उत्सर्जन बढ़ सकता है, क्योंकि वह विकासशील देश है, जहां फिलहाल सतत विकास और गरीबी उन्मूलन प्रमुख प्राथमिकताएं हैं।

वैश्विक कार्बन बजट, एक निश्चित अवधि में अनुमत कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन की कुल मात्रा होती है। सरकार की ओर से पर्यावरण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने राज्यसभा में जानकारी दी, हमारा प्रति व्यक्ति उत्सर्जन 1.96 टन है जो दुनिया के प्रति व्यक्ति ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन के मुकाबले एक तिहाई से भी कम है।

यह भी देखिए :

Income Tax Return: आईटीआर भरने की आखिरी तारीख आज, जानें कैसे बचा सकते हैं टैक्स