टेक्नोलॉजी देश -विदेश

कुछ दिनों में पृथ्वी से टकरा सकता है चीनी रॉकेट का मलबा, भारत पर भी मंडरा रहा खतरा

बीजिंग. चीन द्वारा हाल ही में छोड़े गए एक रॉकेट का मलबा (Debris of Chinese Rocket) वापस पृथ्वी पर गिरने का खतरा बढ़ गया है. अगले कुछ दिनों में यह मलबा पृथ्वी के एक बड़े हिस्से पर गिरने को तैयार है.
हैनान द्वीप पर स्थित वेनचांग लॉन्च सेंटर से रविवार को लॉन्ग मार्च 5B रॉकेट की मदद से लॉन्च हुए वेंटियन राकेट का करीब 23 मीट्रिक टन मलबा वापस पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है.

कैलिफ़ोर्निया स्थित एयरोस्पेस कारपोरेशन के अनुसार चीन के रॉकेट का मलबा 31 जुलाई को अनियंत्रित स्थिति में पृथ्वी से टकरा सकता है. एयरोस्पेस के मुताबिक मलबे की जद में अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, भारत, अफ्रीका और दक्षिण एशिया के आने की भी आशंका है.

हालांकि, चीन ने ऐसी कोई संभावना से इनकार किया है. चीन की सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक चीन की बढ़ती अंतरिक्ष की शक्ति से विचलित अमेरिका झूठा प्रचार कर रहा है.

ग्लोबल टाइम्स ने लिखा कि अमेरिका के पास अंतरिक्ष में चीन के विकास को रोकने में असफल होने के बाद अब बदनामी करने के अलावा कुछ नहीं बचा है.

बच्चों के आगे इन टॉपिक्स पर कभी ना करें बात, वरना पड़ेगा पछताना

आबादी पर गिरने की है संभावना
एयरोस्पेस ने बताया कि मलबे के अनियंत्रित होने के चलते इसके आबादी क्षेत्र में गिरने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है. संस्था के मुताबिक 88 प्रतिशत आबादी अंतरिक्ष मलबे के इस खतरे की जद में आती है.

चीन रख रहा है निगरानी
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने मीडिया से बातचीत में कहा कि चीन राकेट के मलबे के वापस पृथ्वी पर गिरने की संभावनाओं पर नजर बनाये हुए है. उन्होंने आगे कहा कि यह मलबा पृथ्वी के वातावरण में दाखिल होते ही जल कर समाप्त हो जायेगा.

झाओ ने बताया कि चीनी वैज्ञानिकों ने मलबे के शमन को ध्यान में रखते हुए ही अपने अंतरिक्ष मिशन को तैयार किया है.