ट्रेंडिंग देश -विदेश

क्या हम फ्लू की तरह कोरोना का इलाज करने के लिए तैयार हैं? जानिए कुछ देश क्या सोच रहे

नई दिल्ली. धीरे-धीरे ही सही, लेकिन निश्चित रूप से कई सरकारें इस विचार के इर्द-गिर्द आ रही हैं कि कोविड-19 महामारी भी फ्लू की तरह स्थानीय हो सकता है. इतना ही नहीं, ये देश लोगों को कोविड के साथ रहने के लिए कह रहे हैं. जबकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) इस तरह के नतीजे पर पहुंचने के खिलाफ चेतावनी दे रहा है. इस बीच, स्पेन पहला यूरोपीय देश बन गया है जो बड़े स्तर पर मास्क को समाप्त करने की ओर बढ़ रहा है.

अमेरिका में विशेषज्ञों का कहना है कि अधिकांश आबादी ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित होगी और खुद डब्ल्यूएचओ ने कहा कि आने वाले दिनों में यूरोप के आधे से अधिक लोगों में वायरस होगा. दोनों ने ही इसे फ्लू की तरह सामान्य होने की ओर इशारा किया है.

लॉकडाउन और टीकाकरण कोरोना को बढ़ने से रोकने में नाकाम
ओमिक्रॉन की वजह से बढ़ रहे कोरोना मामले अभी भी शुरुआती दिन हो सकते हैं, लेकिन सच तो ये है कि न तो लॉकडाउन और न ही टीकाकरण पूरी तरह से कोविड-19 प्रसार को रोकने में सफल रहा है. ऐसा ही विचार इजरायल के प्रधानमंत्री ने जाहिर किया था, जिसका देश दुनिया के उन कुछ मुल्कों में से था जिन्होंने अपनी अधिकांश वयस्क आबादी का टीकाकरण किया, तीसरी खुराक भी शुरू की और यहां तक ​​कि चौथी खुराक पर भी विचार कर रहा है.

स्विट्जरलैंड और ब्रिटेन मंत्री ने क्या कहा
स्विट्जरलैंड के गृह मंत्री एलेन बर्सेट ने कहा है कि कोरोना के महामारी से फ्लू जैसी अवस्था में पहुंचने पर विचार किया जा सकता है. एक मीडिया सम्मेलन में बोलते हुए उन्होंने कहा, “हम एक ऐतिहासिक घटना के मुहाने पर हो सकते हैं, एक महामारी चरण से एक स्थानीय चरण में पहुंचना.” ब्रिटेन के शिक्षा सचिव, नादिम ज़हावी ने बीबीसी को बताया कि यूके “कोविड-19 के मद्देनजर महामारी से स्थानीय संक्रमण की ओर बढ़ रहा है.”

ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था पर लगा कोरोना का ग्रहण
ब्रिटने के मंत्री का यह बयान ऐसे समय में आया है, जबकि यूके की अर्थव्यवस्था पहली बार महामारी आने से पहले के स्तर पर लौट रही थी. ऑफिस फॉर नेशनल स्टैटिस्टिक्स (ONS) ने बताया कि नवंबर में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में 0.9 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जबकि अक्टूबर में यह 0.1 प्रतिशत थी. छुट्टियों के मौसम ने अर्थव्यवस्था के तेजी से बदलाव में अहम योगदान दिया.

कई देशों ने अपने यहां क्वारंटाइन समय घटाया
कई यूरोपीय देशों द्वारा लागू यात्रा प्रतिबंधों में भी ढील दी जा सकती है. कई देशों ने अपने क्वारंटाइन समय को छोटा कर दिया है. एस्टोनिया और आइसलैंड में क्वारंटाइन का समय घटाकर सात दिन कर दिया गया है. स्लोवेनिया ने भी अपना क्वारंटाइन समय घटाकर पांच दिन कर दिया है.

नॉर्वे में भी पाबंदियों से मिलेगी राहत
नॉर्वे भी कोविड प्रतिबंधों में कुछ ढील देने के बारे में सोच रहा है. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, स्कैंडिनेवियाई देश आंशिक रूप से बार और रेस्तरां में शराब परोसने पर लगे प्रतिबंध को पलटने की तैयारी में हैं. नॉर्वे के प्रधानमंत्री जोनास गहर स्टोरे ने एक संवाददाता सम्मेलन में बोलते हुए कहा, “हम कुछ प्रतिबंधों को कम कर सकते हैं, लेकिन सभी को नहीं.”

नीदरलैंड ने किया प्रतिबंधों में ढील का ऐलान
नीदरलैंड में भी शनिवार से प्रतिबंधों में ढील दी जाएगी. गैर-जरूरी दुकानें, हेयरड्रेसर और जिम को अब फिर से खोलने की अनुमति दी जाएगी. हालांकि, सीमित संख्या में ही ग्राहकों को दुकानों में जाने की अनुमति दी जाएगी. छात्रों को उनके कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में भी जाने की अनुमति होगी. बार, रेस्तरां, संग्रहालय और अन्य सार्वजनिक स्थान बंद रहेंगे.