छत्तीसगढ़ सियासत स्लाइडर

शिक्षा मंत्री साय ने मुख्यमंत्री से झूठी शिकायत मामले की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की… कहा- मेरी, मेरे परिवार, विभाग व कांग्रेस सरकार की छवि को धूमिल करने षडय़ंत्र है…

रायपुर: छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से स्कूल विभाग से संबंधित प्रकाशित खबरों को संज्ञान में लेते हुए इस पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है। शिक्षा मंत्री ने कहा कि मेरी, मेरे परिवान, विभाग और कांग्रेस सरकार की छवि को धूमिल किये जाने का षडय़ंत्र कर झूठी शिकायत तैयार की गई है। उन्होंने कहा कि उच्च स्तरीय जांच से इस पूरे मामले की सच्चाई जनता के सामने आ जाएगी।

शिक्षा मंत्री साय आज मुख्यमंत्री बघेल से उनके निवास में मुलाकात करते उन्हें एक पत्र सौंपा है, जिसमें उन्होंने मुख्यमंत्री ो अवगत कराया कि एक अखबार में 13 जनवरी को प्रकाशित लेख में आशुतोष चावरे उपसंचालक लोक शिक्षण संचालनालय की पदमुद्रा के साथ एक शिकायत पत्र को प्रेषित किया गया है जिसमें मेरे, मेरी पत्नी , मेरे ओएसडी सहित विभाग के अन्य अधिकारियों के संबंध में कुल 366 करोड़ रूपये का भ्रष्टाचार विभिन्न कार्यों एवं मदों में विगत तीन वर्षों में किये जाने का उल्लेख किया गया है।

साय ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि जब कि आशुतोष चावरे द्वारा नई राजधानी रायपुर के थाना राखी में शिकायत दर्ज कराई गई है कि यह शिकायत उन्होंने नहीं की है, बल्कि उनके नाम, पदनाम और पदमुद्रा का गलत तरीके से इस्तेमाल करके यह शिकायत किसी के द्वारा की गई है। इससे स्पष्ट प्रतीत होता है कि किन्ही अज्ञात तत्वों द्वारा मेरी, मेरे परिवार व विभाग तथा कांग्रेस सरकार की छवि खराब करने के लिए एक षडय़ंत्र के तहत ऐसी कथित डायरी और 366 करोड़ रूपये के भ्रष्टाचार की झूठी शिकायत तैयार करवाई गई है।
स्कूल शिक्षा मंत्री ने मुख्यमंत्री से उल्लेखित सभी आरोपों, कथित डायरी की सभी आयामों में उच्च स्तरीय जांच कराने का आग्रह किया है ताकि जनता के सामने सच्चाई आ सके।