छत्तीसगढ़ स्लाइडर

धान खरीदी केन्द्रों में होगी कोरोना जांच, लगेंगे टीके भी : अमिताभ जैन…

मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने कहा कि धान खरीदी केन्द्रों कोरोना जांच सहित टीकाकरण की व्यवस्था भी रहेगी। मुख्य सचिव जैन ने 30 नवंबर को मंत्रालय महानदी भवन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य के सभी संभागों के कमिश्नर, पुलिस महानिरीक्षक, जिले के कलेक्टर और पुलिस अधिक्षकों तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में मुख्य रूप से कोविड-19 के नए वेरिएंट से बचाव के लिए आवश्यक तैयारी, धान खरीदी केन्द्रों पर सुचारू व्यवस्था और आगामी दिनों में आयोजित होने वाले राज्य स्तरीय मानस मंडलियों की प्रतियोगिता और युवा एवं लोक कला महोत्सव के आयोजन की तैयारियों की समीक्षा की गई तथा अधिकारियों को इनके संबंध में आवश्यक निर्देश दिए है। मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में शामिल हुए।

मुख्य सचिव जैन ने कोविड-19 के नए वेरिएंट से बचाव के लिए जरूरी तैयारियों के संबंध में कहा कि विदेशों से छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों की विधिवत निगरानी और मॉनिटरिंग की जाए। विदेशों से आने वाले यात्रियों की सूची राज्य स्तर से जिले के कलेक्टर को नियमित रूप से भेजी जाए। संबंधित जिलों में इन यात्रियों की टैªकिंग एवं आवश्यक होने पर उपचार और संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए जिला स्तर पर प्रभावी कार्यवाही की जाए। संक्रमण न होने की स्थिति में 14 दिन का होम क्वारेंटिन और संक्रमण की स्थिति पाए जाने पर जरूरी उपचार के साथ ही जीनोम सिक्वेंसिंग भी कराई जाए। उन्होंने कहा कि राज्य के तीन प्रमुख हवाई अड्डों में संक्रमण की जांच के साथ ही हेल्पडेस्क स्थापित किए जाएं, जहां विदेशों से आने वाले प्रत्येक यात्रियों की स्क्रीनिंग की जाएगी। जिसमें वेक्सीनेशन के प्रमाण पत्र, संक्रमण जांच की रिपोर्ट का निरीक्षण किया जाए। साथ ही यात्रियों से यह प्रमाण पत्र लिया जाए कि उनकी यात्रा किन-किन देशों से होकर गुजरी है। इसके साथ ही राज्य के धान खरीदी केन्द्रों में भी जांच और टीकाकरण शिविर नियमित रूप से लगाए जाएं, इन शिविरों में धान बेचने आ रहे किसानों की जांच और टीकाकरण की व्यवस्था भी की जाए। उन्होंने शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के प्रमुख स्थलों, चौक-चौराहों और भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करने के लिए प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। उन्होंने संक्रमण बढ़ने की स्थिति से निपटने के लिए सभी स्वास्थ्य केन्द्रों और कोविड केयर सेंटर में पर्याप्त बेड, दवाईयां, ऑक्सीजन सिलेंण्डर, वेंटिलेटर सहित अन्य जरूरी व्यवस्थाएं दुरूस्त रखने के निर्देश भी दिए है।

मुख्य सचिव ने धान खरीदी केन्द्रों में सुचारू व्यवस्था बनाए रखने के लिए समय-समय पर दिए गए दिशा निर्देशों के अनुरूप कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। उन्होंने टोकन वितरण व्यवस्था को नियमित करने प्रभावी कदम उठाने कहा है। साथ ही धान खरीदी की प्रक्रिया में विवादित रहे समितियों-व्यक्तियों-कर्मचारियों पर कड़ी निगरानी रखने और कानूनी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा है कि धान खरीदी केन्द्रों के नियमित निरीक्षण और परीक्षण के लिए सेक्टर बनाकर जोनल अधिकारियों की तैनाती की जाए। ये जोनल अधिकारी अपने प्रभार के धान खरीदीे केन्द्रों में नियमित रूप से भ्रमण करेंगे और धान खरीदी की व्यवस्था सुचारू रूप से सम्पादित कराएंगे। जैन ने तकनीकी क्षमताओं और स्थानीय लोगों की मदद से धान खरीदी केन्द्रों पर किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति को रोकने और ऐसे अप्रिय कार्यों में लिप्त व्यक्तियों के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा है कि पुलिस की गश्त नियमित रूप से धान खरीदी केन्द्रों में की जाए। साथ ही आवश्यक होने पर ऐसे विवादित केन्द्रों में पुलिस बल की भी तैनाती की जाए। जैन ने पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग को बालोद जिले के धान खरीदी केन्द्र पीपरछेड़ी में हुई घटना की जांच करने के निर्देश दिए है। धान खरीदी के पश्चात केन्द्रों से धान का उठाव तत्काल शुरू करने और मिलरों के पास बचे हुए पूर्व के बारदानों को एकत्रित करने, धान खरीदी के संबंध में प्रतिदिन के प्रगति की जानकारी और जरूरी कार्यवाहियों की जानकारी का प्रचार-प्रसार नियमित रूप से करने के निर्देश दिए हैं।

राज्य के मानस मंडलियों के बीच राज्य स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन 20, 21 एवं 22 दिसम्बर को जांजगीर-चांपा जिले के शिवरीनारायण में किया जाएगा। जिलों में ग्राम पंचायत, विकासखण्ड और जिला स्तर पर इन प्रतियोगिताओं का आयोजन 15 दिसम्बर तक करने के निर्देश दिए गए है। ग्राम पंचायत स्तर के विजेताओं को विकासखण्ड स्तर पर और विकासखण्ड स्तर के विजेताओं की जिला स्तर पर प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। जिला स्तर की टीम को 19 दिसम्बर को शिवरीनारायण में कार्यक्रम स्थल पर अपनी उपस्थिति देनी होगी। राज्य स्तर पर विजयी होने वाले मानस मंडलियों में से प्रथम स्थान के लिए पांच लाख, द्वितीय स्थान के लिए तीन लाख और तृतीय स्थान के लिए दो लाख रूपए का पुरस्कार दिया जाएगा। जैन ने इस प्रतियोगिता के आयोजन के संबंध में कार्ययोजना बनाकर 15 दिसम्बर तक जिला स्तरीय विजेता की घोषणा करने के निर्देश दिए है।

राज्य स्तर पर 12, 13 एवं 14 जनवरी 2022 को रायपुर में आयोजित होने वाले युवा महोत्सव एवं लोक कला महोत्सव के आयोजन के संबंध में मुख्य सचिव ने कहा है कि जिला स्तर पर 37 विभिन्न खेल विधाओं का आयोजन करके संभाग स्तर पर विजेताओं का चयन किया जाएगा। संभागीय विजेताओं के मध्य रायपुर में कुल 37 खेल विधाओं में प्रतियोगिता का आयोजन कराया जाएगा। रायपुर में होने वाले राज्य स्तरीय आयोजन में साहित्य मेला और लोक कला प्रदर्शनी भी लगायी जाएगी। मुख्य सचिव ने कोविड-19 से बचाव के लिए जरूरी दिशा निर्देशों का पालन सुनिश्चित करते हुए इन कार्यक्रमों का आयोजन करने के निर्देश दिए है। बैठक में सचिव स्वास्थ्य विभाग शहला निगार, सचिव खाद्य टोपेश्वर वर्मा, सचिव खेल एवं युवा कल्याण एन.एन.एक्का, सचिव संस्कृति एवं पर्यटन अन्बलगन पी., पुलिस महानिरीक्षक इंटेलिजेंस आनंद छाबड़ा, पंजीयक सहकारी समिति हिमशिखर गुप्ता, संचालक मार्कफेड किरण कौशल, संचालक पर्यटन विवेक आचार्य, संचालक जनसम्पर्क सौमिल रंजन चौबे सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।