छत्तीसगढ़ स्लाइडर

छत्तीसगढ़: भाजपा महिला मोर्चा ने की मांग… रेडी टू ईट फ़ूड बनाने का कार्य महिलाएं ही करें…

भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की प्रतिनिधिमंडल ने महिला स्व सहायता समूह से आपूर्ति किए जाने वाले रेडी टू ईट पोषण आहार का कार्य महिला समूह से छीन कर छत्तीसगढ़ बीज विकास निगम को दिए जाने को लेकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा। भारतीय जनता पार्टी तत्कालीन सरकार के लिए गए निर्णय अनुसार वर्ष 2009-10 में आंगनबाड़ियों में रेडी टू ईट पोषण आहार का कार्य ठेकेदारों से लेकर बड़ा निर्णय लेते हुए महिला स्व सहायता समूह को दिया गया था। तत्कालीन समय लगभग 400-500 करोड़ रू. का कार्य जो कि वर्तमान में 1 हजार करोड़ रू. तक हैं, महिला स्व सहायता समूहों को दिया गया था। प्रदेश में महिलाएं इस कार्य को सुचारू रूप से व गणुवत्तापूर्ण रूप से सम्पादित कर रही है तथा प्रत्येक समूह 1 वर्ष में 25 लाख से लेकर 50 लाख रू. तक पोषण आहार प्रदाय का कार्य कर रहा है तथा आर्थिक रूप से सक्षम हो रहा है। इस कार्य में प्रदेश में 20 हजार महिलाएं जुड़ी है तथा इनके माध्यम से 20 हजार परिवार आर्थिक रूप से मजबूत हो रहे है।

प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने महिला समूहों से उक्त कार्य छीनकर बीज निगम को दिये जाने का निर्णयर्ण लिया है, जिसका प्रमुख उद्देश्य एक कंपनी विशेष तथा इस कंपनी/सस्ंथा/निगम के साथ अनुबंधित निजी सस्ंथा को लाभ देने व महिलाओं को आर्थिक रूप से चोट पहुंचाना है। उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने भी आगंनबाड़ियों में पोषण आहार का कार्य स्व सहायता समूहों को दिये जाने के पूर्व में निर्देश भी दिये गए है मगर सरकार की हठधर्मिता के कारण आज प्रदेश में न केवल माननीय न्यायालय के निर्देशों की अवहेलना की जा रही है, बल्कि प्रदेश की सशक्त हो रही महिलाओं को कमजोर करने व सस्ंथा विशेष व उसके निजी भागीदार को फायदा पहुंचाने का कार्य कि या जा रहा है। जिसके लिए भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की रायपुर शहर एवं रायपुर ग्रामीण के एक प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल महोदय को ज्ञापन सौंप कर रेडी-टू-ईट आपूर्ति का कार्य महिला स्व सहायता समूहों को यथावत बनाये रखने प्रदेश सरकार को निर्देशित करे। प्रतिनिधि मंडल में भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा प्रदेश प्रभारी लता उसेंडी, सह प्रभारी उषा टावरी, प्रदेश अध्यक्ष शालिनी राजपूत, ममता साहू, चंपादेवी पावले, विभा अवस्थी, किरण बघेल, सोना वर्मा, सरिता साहू, प्रीति परगनी या प्रतिनिधि मंडल में शामिल हुए।