देश -विदेश सियासत स्लाइडर

बड़ी खबर: JDU नेता को दिनदहाड़े मारी गोली… पिस्टल लहराते अपराधी फरार… RJD की टिकट पर लड़ चुके हैं विधानसभा चुनाव…

बिहार की राजधानी पटना में बदमाशों ने दिनदहाड़े एक नेता को गली मार दी. यहां पटना के फुलवारीशरीफ में अपराधियों ने जदयू नेता धर्मेंद्र कुमार चंद्रवंशी को गोली मार दी है. जेडीयू नेता डॉ. धमेंद्र कुमार पेशे से एक डेंटिस्ट भी हैं. बताया जा रहा है कि एक गोली उनकी बांह में फंसी है. जिसके बाद उन्हें गंभीर हालत में पीएमसीएच में भर्ती कराया गया है.धर्मेंद कुमार हाल ही में राजद छोड़कर डेजीयू में शामिल हुए हैं.

घटना फुलवारीशरीफ की मित्र मंडल कॉलोनी की है. यहां गुरुवार सुबह डॉ. धर्मेंद्र मित्र मंडल कॉलोनी में अपनी जमीन देखने गए थे. जदयू नेता धर्मेंद्र कुमार अपने कुछ मित्रों के साथ मित्र मंडल कॉलोनी स्थित जमीन विवाद पर बाउंड्री को देखने गए थे. इसी इसी दौरान 2 बाइक पर 5 की संख्या में आए अपराधियों ने उन पर फायरिंग कर दी. जिसके बाद वो जान बचाने के लिए अपनी गाड़ी की तरफ दौड़े इस दौरान एक गोली उनके बांह में लग गई.

जमीन विवाद में नेता को मारी गोली
धर्मेंद कुमार ने बताया कि फुलवारी शरीफ के मित्र मंडली कॉलोनी के पास उनकी कुछ जमीन है.इस जमीन को लेकर पहले से कुछ लोगों से उनका विवाद चल रहा था. छठ पूजा पर वो अपने ससुराल पूर्णिया गए थे. इस दौरान वहां के कुछ लोगों ने विवादित जमीन पर बाउंड्री वॉल खड़ी कर दी. जिसके बाद उन्होंने मस मामले की खबर पुलिस को दी थी. गुरुवार को जव वो अपनी जमीन पर पहुंच तो वहां बाईक सेआए पांच अपराधियों ने उन्हें गोली मार दी.

पिस्टल लहराते अपराधी फरार
घटना के बाद गोली की आवाज सुनकर वहां भीड़ जुटने लगी. जिसके बाद अपराधी वहां से पिस्टल लहराते हुए भाग खड़े हुए. घटना के बारे में जेडीयू नेता ने बताया कि मौके पर पांच अपराधी पहुंचे थे जिनमें से वो तीन अपराधी ओम गुप्ता, जय गुप्ता और अभिषेक कुमार को पहचानते हैं. बांकी दो को वो पहचान नहीं पाए हैं. पुलिस धर्मेंद्र कुमार की शिकायत पर मामले की छानबीन में जुट गई है.
राजद की टिकट पर लड़ा था चुनाव

धर्मेंद्र कुमार चंद्रवंशी पेशे से डेंटिस्ट हैं. 2020 विधानसभा चुनाव में उन्होंने राजद की टिकट पर कुम्हरार विधानसभा से चुनाव लड़ा था. लेकिव उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. अभी 6 नवंबर को वो राजद छोड़कर JDU मेंशामिल हो गए थे. उन्हें पार्टी में शामिल कराने के लिए JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, शिक्षामंत्री विजय चौधरी समेत कई नेता आए थे.