छत्तीसगढ़ टेक्नोलॉजी

आपके सोशल मीडिया पर राज्य सरकार की नजर… रायपुर में बनी पुलिस की निगरानी कमेटी, भड़काऊ पोस्ट किए तो होगी जेल…

प्रदेश सरकार ने सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए एक खास टीम तैयार की है। रायपुर पुलिस के साइबर सेल प्रभारी गिरीश तिवारी को इस टीम का प्रमुख नियुक्त किया गया है। गिरीश तिवारी की टीम में प्रधान आरक्षक महेंद्र राजपूत, आरक्षक चिंतामणि साहू आरक्षक टेकसिंह मोहले भी होंगे। इसे लेकर बुधवार को एक आदेश जारी किया गया। प्रदेश सरकार की तरफ से मिले निर्देश के बाद रायपुर SP ऑफिस से स्पेशल टीम के अफसरों के नाम जारी कर दिए गए। नाम के साथ जारी पत्र में कहा गया है कि यह टीम रायपुर के सोशल मीडिया अकाउंट पर नजर रखेगी।

यह होगा काम
सोशल मीडिया अकाउंट पर नजर रखने के लिए तैयार की गई टीम रायपुर के उन तमाम पोस्ट और फोटोस पर नजर रखेंगी जो रायपुर के लोग फेसबुक, ट्वीटर और वॉट्सअप जैसे प्लेटफॉर्म पर शेयर करेंगे। साइबर सेल के कंट्रोल रूम में निगरानी का सेटअप तैयार किया जा सकता है। रायपुर के लोगों कि सोशल मीडिया अकाउंट्स जारी होने वाले मैसेज और तस्वीरों पर निगरानी रखने के दौरान पुलिस इस बात का ख्याल रखेगी की कोई भी पोस्ट भड़काऊ न हो। किसी मैसेज या तस्वीर से शहर की कानून व्यवस्था का माहौल बिगड़े तो वो कार्रवाई के दायरे में आएगी।

हाल ही में प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कलेक्टर, आईजी और एसपी कांफ्रेंस में यह कहा था कि सोशल मीडिया पर नजर रखने की जरूरत है। कवर्धा में हुई 3 और 5 अक्टूबर को हिंसक झड़प के बाद सरकार ने यह फैसला लिया है। अब लोगों के द्वारा वायरल किए जाने वाले मैसेजेस या कमेंट पर भी नजर होगी। खबर है कि भड़काऊ मैसेज या तस्वीरें वायरल करने वालों के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत पुलिस कार्रवाई करेगी उन्हें गिरफ्तार कर जेल भी भेजा जाएगा।