देश -विदेश सियासत

BJP नेता बोले- पार्टी कार्यकर्ता है तो नौकरी मिल जाएगी, कांग्रेस ने घेरा…

गुजरात में सरकारी नौकरी के इंतजार में कई बार छात्र सड़क पर उतरते हैं, पढ़े लिखे युवा बेरोजगार सालों से नौकरी के इंतजार में बैठे हुए है. वहीं, गुजरात बीजेपी के अध्यक्ष सीआर पाटील के एक बयान ने गुजरात में राजनीति को गरमा दिया है.

दरअसल, गुजरात के साबरकांठा के हिम्मतनगर में एक कार्यक्रम के दौरान गुजरात बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटील ने बयान दिया कि, बीजेपी के कार्यकर्ता के बेटे को आसानी से नौकरी मिल जाती है, पर जरूरी है कि वो बीजेपी का कार्यकर्ता हो. इसपर कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधा, कांग्रेस ने कहा कि क्या गुजरात सरकार बीजेपी की कंपनी है, जहां भाजपा का कार्यकर्ता होना उम्मीदवार की क्वालिफिकेशन मानी जाती है.

कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि, हमारे यहां जिला प्रभारी कानाबार थे, जो जिला के प्रभारी थे. एक बार उन्होंने ने एक शख्स को ठंड में सुबह के समय जाते हुए रोका और पूछा कि वह इतनी ठंड में कहा जा रहा है तो उसने बताया कि पेज कमिटी डिटेल्स हैं जिन्हें वो एंट्री करवाने के लिए जा रहा है.

उन्होंने आगे कहा कि कानाबार ने मुझे फोन किया और मिलने की बात कही.. मैंने उसे खाने पर बुलाया और फिर उसने मुझे फोन कर कहा कि 20 साल से मैं बीजेपी का कार्यकर्ता हुं. मेरा एक काम है मैं कहूं या नहीं? मेरे बटे की नौकरी नहीं लगती है. इसके बाद उनके बेटे की नौकरी लग गई. अगर भाजपा की सरकार के हैं तो कार्यकर्ता थोड़ी ना रह जाएगा. यहां कई चुने गये प्रतिनिधी हैं जो बोर्ड के अध्य़क्ष हैं. उन्हें भी कह रहा हूं कि कार्यकर्ताओं को प्रमुखता मिलनी चाहिए.

सीआर पाटील के इस बयान पर कांग्रेस ने हमला बोल दिया. कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया ने कहा कि सिर्फ बीजेपी के कार्यकर्ता होने के आधार पर नौकरी नहीं मिल सकती है. इसे गुजरात के क्वॉलिफाइड युवाओं का अन्याय होता है. मैं बीजेपी के कार्यकर्ताओं से विनती करता हूं कि अगर उनके परिवार में किसी के पास नौकरी नहीं है तो सीआर पाटील को फोन करे.