Breaking News छत्तीसगढ़ यूथ स्लाइडर

(बड़ी खबर) छत्तीसगढ़: 28 सितंबर तक स्कूल रहेंगे बन्द… फिर कोरोना की चपेट में आए स्कूली बच्चे… बेमेतरा के गर्ल्स स्कूल में 7, महासमुंद में 5 पॉजिटिव मिले… सभी की उम्र 12 से 15 साल…

File Photo

छत्तीसगढ़ में एक बार फिर स्कूली बच्चे कोरोना की चपेट में आने लगे हैं। इस बार, महासमुंद और बेमेतरा के स्कूलों में 12 बच्चे पॉजिटिव मिले हैं। बेमेतरा के सरकारी गर्ल्स स्कूल में 7 बच्चियां और महासमुंद के बकमा हाईस्कूल में 5 बच्चे संक्रमित मिल हैं। इन सभी की उम्र 12 से 15 साल के बीच है। रिपोर्ट आने के बाद गर्ल्स स्कूल को 26 सितंबर और हाईस्कूल को 28 सितंबर तक बंद कर दिया है। करीब एक माह बाद फिर से स्कूली बच्चों में संक्रमण सामने आया है। इसके बाद कलेक्टर ने क्षेत्र के सभी स्कूलों में बच्चों की जांच करने के निर्देश दिए हैं।

स्वास्थ्य विभाग की टीम सोमवार को रैंडम सैंपल जांच के लिए साजा स्थित शासकीय कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल पहुंची थी। इस दौरान 6 बच्चियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद यहां कंटेनमेंट जोन बनाने की कार्रवाई शुरू कर दी। वहीं साजा BMO ने बताया कि मंगलवार को भी एक बच्ची में संक्रमण मिला है। इसके बाद संक्रमित बच्चों की संख्या बढ़कर 7 हो गई है। सभी छात्राओं का घर में ही इलाज किया जा रहा है।

क्षेत्र के सभी स्कूलों के बच्चों का होगा टेस्ट
बच्चों के संक्रमण का मामला सामने आने के बाद मंगलवार को कलेक्टर विलास भोसकर संदीपान ने साजा का दौरा किया। इस दौरान वह स्कूल का निरीक्षण करने भी पहुंचे। उन्होंने सभी अधिकारियों की बैठक बुलाई और चर्चा की। डिप्टी कलेक्टर और नोडल अधिकारी संदीप ठाकुर ने बताया कि नगर पंचायत क्षेत्र साजा के सभी स्कूलों में बच्चों की जांच के लिए 4 मेडिकल टीमों का गठन किया गया है।

जिले में सबसे पहले साजा से ही फैलना शुरू हुआ था संक्रमण
कोरोना की दोनों लहर में जिले में साजा से ही संक्रमण फैलने की शुरुआत हुई थी। दोनों बार इसे ही सबसे पहले कंटेनमेंट जोन बनाया गया था। जिले में अब तक 19953 संक्रमण के मामले सामने आ चुके हैं। फिलहाल एक्टिव केस सोमवार तक सिर्फ 7 थे, जो अब बढ़ गए हैं। संक्रमण की दोनों लहर में 312 मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं दूसरी लहर में अब तक 236 मरीजों की जान गई है।

महासमुंद में तीन और बच्चों में बीमारी के लक्षण
महासमुंद जिले के बागबहरा के पास बकमा हाईस्कूल में मंगलवार को पांच बच्चे ऐसे ही रेंडम जांच में कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। तीन और बच्चों में बीमारी के लक्षण दिखे हैं। स्कूल को अगले सात दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। इस मामले में स्वास्थ्य और स्कूल शिक्षा विभाग का रवैया बेहद ठंडा है।