छत्तीसगढ़ स्लाइडर

छत्तीसगढ़ के इन जिलों में IMD ने जारी किया बारिश का रेड अलर्ट… जानिए अपने जिले का हाल…

छत्तीसगढ़ में लगातार हो रही बारिश अब लोगों के लिए आफत बन गई है. पिछले तीन दिनो से राज्य के अलग इलाकों में जमकर बारिश हो रही है.

लगातार हो रही बारिश के बाद नदी नाले उफान पर आ गये हैं. कई शहरों और गांवों में पानी घुस गया है. भारी बारिश के चलते आने-जाने वालों को भी खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. वहीं रायपुर-जगदलपुर हाईवे को बंद कर दिया गया है.

सिकासेर बांध के 22 में से 17 गेट खोल दिये गए हैं. मौसम विभाग ने बुधवार को भी कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है. और साथ ही राज्य के सात जिलों के लिये रेड अलर्ट जारी किया है.

इन जिलो में होगी बारिश
मौसम विभाग के मुताबिक छत्तीसगढ़ के मुंगेली, कबीरधाम, दुर्ग, बेमेतरा, राजनांदगांव, बालोद और कांकेर जिले और उनके आसपास के इलाकों में अति भारी बारिश होने की संभावना है. यहां आकाशीय बिजली गिरने के भी आसार जताए गए हैं.

जबकि जशपुर, बलरामपुर, बस्तर, दंतेवाड़ा, कोरिया, सूरजपुर, सरगुजा, सुकमा और बीजापुर जिलों में कुछ स्थानों पर भारी बरसात की संभावना जताई गई है.

इनमें से कई इलाकों में अभी से बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं. वहीं राजधानी रायगढ़ समेत बिलासपुर, बलौदा बाजार, जांजगीर-चांपा, कोरबा, गरियाबंद, नारायणपुर, धमतरी, महासमुंद और कोण्डागांव जिलों में भी अच्छी बारिश की संभावना जताई गई है.

सिकासेर बांध के 22 में से 17 गेट खोले
लगातार हो रही तेज बारिश के बाद बांधों में पानी उफान मारने लगा है. इसको देखते हुये सिकासेर बांध से 15 हजार क्यूसेक पानी छोड़ने का फैसला किया गया है. बांध के 22 में से 17 गेट को खोल दिए गए हैं. वेस्ट वियर से भी पानी छोड़ा जा रहा है.

कोरबा में भी जोरदार बारिश के कारण घिनारा के पास पानी पुल के ऊपर बह रहा है. दूसरी तरफ सिवनी से सुखरीकला मार्ग पर स्थित जमड़ी नाला पुल पर भी पानी करीब 2 फीट ऊपर बह रहा है.

निचली इलाकों से टूट रहा है संपर्क
कांकेर जिले के अंतागढ़ इलाके में भी रातभर से ही जोरदार बारिश हो रही है. इससे मेंढकी नदी उफान पर आ गई है. अंतागढ़ से कोयलीबेड़ा का संपर्क टूट गया है. यहां प्रशासन ने राहत और बचाव कार्य और तेज कर दिये हैं. आसपास के निचले इलाकों के गांवों के लोगों को सतर्क रहने को कहा गया है.