Breaking News देश -विदेश व्यापार स्लाइडर

सस्ती हो सकती हैं कोविशील्ड और कोवैक्सीन… दोनों कंपनियों से केंद्र सरकार ने दाम घटाने को कहा…

भारत सरकार ने सोमवार को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक को कोरोना वैक्सीन की कीमतों को कम करने के लिए कहा है. सरकार ने कहा कि कि 1 मई से पूरे देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन लगनी हो तो इसलिए वो वैक्सीन की कीमतों में कटौती करें. अभी देश में भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड वैक्सीन लगाई जा रही है. हाल ही में केंद्र सरकार ने 18 साल की उम्र से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीनेशन ड्राइव में शामिल करने का फैसला लिया है.

1 मई से 18 साल से ज्यादा की उम्र के सभी लोग कोरोना की वैक्सीन लगवा सकेंगे. इसके लिए Co-Win प्लेटफार्म और आरोग्य सेतु ऐप पर 28 अप्रैल से रजिस्ट्रेशन की शुरुआत हो जाएगी. देश में ऐसा पहली बार है जब राज्य सरकारें और प्राइवेट अस्पताल स्वतंत्र रूप से वैक्सीन की खरीद कर सकेंगे. भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड है. दोनों की ही टीकों की दो-दो डोज लेनी होगी.

कोविशील्ड 70 प्रतिशत तक प्रभावी
सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड को 70 प्रतिशत तक प्रभावी बताया गया है, लेकिन ये 90 प्रतिशत से भी ज्यादा असरकारी हो सकती है. वहीं भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को अब तक 78 फीसदी और कोरोना के गंभीर मरीजों पर 100 फीसदी तक असरकारी पाया गया है. कोविशील्ड वैक्सीन राज्य सरकारों को 400 रुपए और प्राइवेट अस्पतालों को 600 रुपए में मिलेगी. ये कीमतें अगले महीने यानी 1 मई से लागू होंगी.

दूसरी ओर कोवैक्सीन की एक डोज राज्यों को 600 रुपए में और प्राइवेट अस्पतालों को 1200 रुपए में मिलेगी. इसके अलावा कोवैक्सीन को 15 से 20 डॉलर प्रति डोज की कीमत पर एक्सपोर्ट किया जाएगा यानी करीब 800 से 1500 रुपए तक प्रति डोज. हालांकि दोनों वैक्सीन की ये कीमतें 18 से 44 साल के बीच के लोगों के लिए ही हैं.