देश -विदेश मनोरंजन सियासत स्लाइडर

शिव जी और श्री राम पर टिप्पणी कर विवादों में फंसी “तांडव”… केंद्रीय मंत्री को पत्र लिख जल्द कार्यवाही करने की मांग…

नई दिल्ली: वेब सीरीज तांडव को लेकर विवाद बढ़ गया है। निर्देशक अली अब्बास जफर की नई वेब सीरीज ‘तांडव’ के निर्माताओं पर भगवान राम, नारद और शिव के अपमान के आरोप लग रहे हैं। साथ ही इसके बायकॉट की मांग की जा रही है। ‘तांडव’ के खिलाफ भाजपा सांसद मनोज कोटक ने सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखा है।

महाराष्ट्र भाजपा के विधायक राम कदम ने मुंबई के घाटकोपर पुलिस स्टेशन में इसके खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है। वहीं, महाराष्ट्र भाजपा विधायक राम कदम ने ट्वीट किया, आखिरकार क्यों हर बार फिल्मों और वेब सीरीज में हिन्दू देवी देवताओं को अपमानित करने का काम किया जाता है।

ताजा उदाहरण नई वेब सीरीज ‘तांडव’ है। सैफ अली खान एक बार फिर ऐसी फिल्म या सीरीज का हिस्सा है जो हिन्दू भावनाओं को ठेस पहुंचाता है। डायरेक्टर अली अब्बास जफर को सीरीज से भगवान शिव का मजाक बनाने वाला हिस्सा हटाना होगा। एक्टर जीशान अयूब को माफ़ी मांगनी होगा। जब तक जरूरी बदलाव नहीं होते तब तक तांडव का बहिष्कार किया जाएगा।

राम कदम ने ट्वीट किया, मैं तांडव वेब श्रृंखला में हिंदू देवताओं के उत्पीड़न के बारे में हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने के खिलाफ इस वेब श्रृंखला के रचनाकारों, निर्देशकों और अभिनेताओं के खिलाफ एफआरआई दर्ज करने के लिए दोपहर 12.30 बजे घाटकोपर चिरागनगर पुलिस ठाणे जा रहा हूं। इसके साथ ही राम कदम और भाजपा सांसद मनोज कोटक ने सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखा है।

जिसमें वेब सीरीज के लिए सेंसर बोर्ड की व्यवस्था करने की मांग की गई है। इसके साथ ही मामले में जल्द कार्रवाई करने की मांग की है। कोटक के मुताबिक तांडव वेब सीरीज में हिंदू भावनाओ को आहत करने की कोशिश की गई है। कोटक ने लिखा, ‘ओटीटी प्लेटफॉर्मों के पूरी तरह सेंसरशिप से मुक्त होने के कारण बार-बार हिंदू भावनाओं पर हमले हुए हैं, जिसकी मैं कड़ी निंदा करता हूं।’ उन्होंने प्रकाश जावड़ेकर को टैग करते हुए लिखा, मैं अनुरोध करता हूं कि ओटीटी को भारत की अखंडता के हित में विनियमित किया जाए।

‘ यही नहीं, कई भाजपा नेताओं ने इस सीरीज को प्रतिबंधित करने की मांग उठाई है। दिल्ली भाजपा के नेता कपिल मिश्रा ने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा है, ‘तांडव दलित विरोधी और हिंदुओं के खिलाफ सांप्रदायिक घृणा से भरी हुई है। कई वेब यूजर्स ने इसे नफरत फैलाने वाली सीरीज करार दिया है।

इन सीन को मचा है बवाल

हालांकि सोशल मीडिया यूजर कई सींस पर आपत्ति जता रहे हैं, लेकिन सबसे ज्यादा आपत्ति एक्टर जीशान के मंच पर परफॉर्मेंस के दौरान जताई गई है। इसमें एक्टर जीशान के संवाद पिछले कुछ सालों में घटित घटनाओं से जोड़े गए हैं। यूजर इन्हें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिबास में स्वयं की विचारधारा थोपने की बात कह रहे हैं।