देश -विदेश वायरल

भाई के हत्यारे को मारने के लिए बहन ने रची खौफनाक साजिश… फिल्मी स्टाइल में देने जा रही थी वारदात को अंजाम…

मुंबई में एक बहन ने अपने भाई की मौत का बदला लेने के लिए ऐसा जाल बुना कि जिसे सुनकर हर कोई हैरान है. भाई के हत्यारे से बदला लेने के लिए पहले उसे हनी ट्रैप में फंसाया, फिर साथियों की मदद से उसे जंगल ले जाकर मार डालने की साजिश रची. लेकिन इससे पहले ही पुलिस ने महिला समेत 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया. आइए आपको बताते हैं कैसे फिल्मी स्टाइल में रची गई हत्या की साजिश और कैसे हुआ इस साजिश का खुलासा?

क्या है मामला
दरअसल, जून 2020 में मलाड इलाके में पार्किंग को लेकर दो गुटों के बीच लड़ाई हुई. जिसमें एक आरोपी मोहम्मद सादिक ने लड़ाई के दौरान 24 साल के अल्ताफ शेख की हत्या कर दी. हत्या के बाद सादिक दिल्ली भाग गया. इस घटना से अल्ताफ की बहन यासमीन सदमे की हालत में थी और उसने बदला लेने की ठान ली. उसने अल्ताफ के दोस्तों, फारूक शेख (20), ओवैस शेख (18), मनीस सैय्यद (20), जाकिर खान (32) और सत्यम पांडे (23) को अपने साथ मिलाया और उनकी मदद से सादिक को मारने का फैसला किया.



हत्या के लिए ऐसे बुना जाल
हत्या के एक महीने बाद यासमीन और अल्ताफ के सभी दोस्त मालवानी इलाके में मिले और सादिक को मारने की साजिश रची. उन्होंने उसे हनी ट्रैप में फंसाने का फैसला किया. इसके लिए यासमीन ने फर्जी इंस्टाग्राम अकाउंट बनाया और सादिक से बातचीत शुरू की. इस दौरान उसने सादिक से प्यार का नाटक किया. एक हफ्ते पहले सादिक यासमीन से मिलने दिल्ली से मुंबई आया था.

शनिवार को यासमीन ने उसे मुंबई के छोटा कश्मीर इलाके में मिलने के बुलाया, लेकिन वो खुद यहां मौजूद नहीं थीं. उसके 5 दोस्त एम्बुलेंस में सादिक का इंतज़ार कर रहे थे. जैसे ही सादिक मौके पर पहुंचा दोस्तों ने सादिक को किडनैप कर लिया. उन्होंने फैसला किया कि सादिक को वसई नायगांव के जंगल में ले जाकर मारेंगे और फिर उसके शव को ठिकाने लगाएंगे.

इस गड़बड़ी से खराब हुआ खेल
लेकिन इस दौरान एक स्थानीय ने उन्हें जबरदस्ती सादिक को एम्बुलेंस में डालते देख लिया. उसने 100 नंबर डायल कर पुलिस को इसकी सूचना दे दी. इसके बाद इलाके की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया और जांच शुरू कर दी गई. भागते हुए आरोपियों की एम्बुलेंस में पेट्रोल खत्म हो गया और उन्हें एक इनोवा कार किराए पर लेनी पड़ी.



पुलिस ने किया गिरफ्तार
पश्चिमी एक्सप्रेस हाईवे पर, जब सभी आरोपी सादिक को किडनैप कर दहिसर चेक नाका से गुजर रहे थे, उस दौरान नकाबंदी के दौरान सभी को गिरफ्तार कर लिया गया और सादिक को बचा लिया गया. अपहरण मामले में यासमीन और उसके सभी पांच दोस्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जांच शुरू कर दी है.