टेक्नोलॉजी ट्रेंडिंग देश -विदेश स्लाइडर

PUBG Mobile का कोरियन वर्जन भारत में धड़ल्ले से खेला जा रहा है, क्या ये गैरकानूनी है?

कहने को तो PUBG Mobile भारत में बैन है, लेकिन गेमर्स अभी भी पबजी मोबाइल आराम से खेल रहे हैं. PUBG Corporation की तरफ से कुछ महीने पहले ही ऐलान किया गया कि PUBG MOBILE INDIA वापस आ रहा है, लेकिन अभी शायद इसमें कुछ और महीनों की देरी.

मैंने कई लोगों से बातचीत की है जिन्होंने बताया कि दूसरे देश का पबजी वर्जन इंस्टॉल करके गेम खेल रहे हैं. इसके लिए किसी तरह के वीपीएन या मुश्किल तरीकों की भी जरूरत नहीं है. कोरियन वर्जन पबजी मोबाइल का एपीके आसानी से उपलब्ध है.



ऑफिशियल वर्जन न होने की वजह से शुरुआत में जो बड़े टूर्नामेंट्स होते थे या गेमर्स कम्यूनिटी लाइव स्ट्रीमिंग करके पैसे कमाते थे वो थोड़ा स्लो हुआ. लेकिन अब दुबारा से सोशल मीडिया और यूट्यूब पर पबजी मोबाइल का लाइव स्ट्रीम किया जा रहा है.

यहां तक की भारत के बड़े प्लेयर्स जिन्होंने वर्ल्ड लेवल टूर्नामेंट्स खेले हैं वो भी दूसरे वर्जन का पबजी मोबाइल खेल रहे हैं और उनकी स्ट्रीमिंग भी कर रहे हैं. गेम शेयरिंग कम्यूनिटी पर कोरियन पबजी मोबाइल उपलब्ध है और लोग वहां से इसे डाउनलोड भी करते हैं.

अब सवाल ये है कि अगर पबजी मोबाइल भारत में बैन कर दिया गया है तो क्या दूसरे देशों का वर्जन खेलना गैरकानूनी है? दिल्ली बेस्ड वकील अजय तेजपाल कहते हैं कि दूसरे वर्जन का पबजी मोबाइल भारत में यूज करना भी एक तरह से गैरकानूनी ही है.

तेजपाल के मुताबिक सरकार ने पबजी मोबाइल ऐप को सेक्शन 69A और उससे जुड़े हुए इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ऐक्ट के तहत बैन किया गया है. ऐसे में बैन्ड ऐप को ऐक्सेस करना या फिर उसी ऐप को किसी दूसरे तरीकों से डाउनलोड करके भारत में इस्तेमाल करना सरकार के इस आदेश का उल्लंघन होगा.



लीगल एक्सपर्ट का मानना है कि अगर सरकार को पबजी मोबाइल भारत से पूरी तरह से बैन करना है तो अब भी कई काम करने होंगे. जैसे इनके दूसरे वर्जन और एपीके की ऐसी वेबसाइट जहां से इसे डाउनलोड किया जा रहा है उस पर रोक लगानाी होगी.

हालांकि गेमर्स के मन में हमेशा ये सवाल होता है जो कोरियन पबजी मोबाइल खेलते हैं, कि क्या ये लीगल है? लेकिन फिलहाल ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है जहां कोरियन पबजी मोबाइल अपने फोन में रखने या खेलने पर किसी पर कार्यवाई हुई है.