टेक्नोलॉजी ट्रेंडिंग देश -विदेश स्लाइडर

BAN के बावजूद अब तक Play Store/App Store पर क्यों दिख रहे हैं ये चाइनीज ऐप्स?

चीन से तनातनी के बीच केंद्र सरकार ने 59 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया है. इनमें भारत में बेहद लोकप्रिय रहे टिकटॉक, शेयर इट, यूसी ब्राउजर जैसे ऐप शामिल हैं.

इलेक्ट्रानिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने ऐसे 59 चीनी ऐप की सूची जारी की है, जो अब भारत में प्रतिबंधित हैं. मंत्रालय ने कहा, “हमारे पास विश्वसनीय सूचना है कि ये ऐप ऐसा गतिविधि में लगे हुए थे, जिससे हमारी संप्रभुता और अखंडता और रक्षा को खतरा था, इसलिए हमने ये कदम उठाए.”



गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद हैं प्रतबंधित ऐप
सरकार ने इन ऐप को प्रतबंधित तो कर दिया, लेकिन मंगलवार सुबह तक ये ऐप गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद हैं. यानी इन ऐप्स को कोई व्यक्ति अपने स्मार्टफोन पर डाउनलोड कर सकता था. जब हमने मंगलवार सुबह प्रतिबंधित ऐप की सूची में शामिल यूसी ब्राउजर को डाउनलोड करना चाहा तो ये ऐप आसानी से डाउनलोड होकर मोबाइल में इंस्टॉल भी हो गया.

डाउनलोड भी हो रहा है प्रतिबंधित ऐप
देर रात तक Apple के ऐप स्टोर पर ये सभी 59 चीनी ऐप्स लाइव हैं. यानी अब भी यूजर्स इन्हें डाउनलोड कर सकते हैं. जो लोग ये ऐप यूज करते हैं उनके पास ये ऐप काम भी कर रहे हैं.



बता दें कि सरकार द्वारा इन ऐप्स को प्रतिबंधित करने के बाद इसकी सूचना Android और iOS platforms को दी जाती है. सरकार के इस निर्देश पर अमल करने में कंपनियां कुछ समय लेती हैं और इसके बाद इन्हें ऐप प्लेटफॉर्म से हटाया जाता है.

सोशल मीडिया पर सवाल
सोशल मीडिया पर यूजर्स अब लगातार ये सवाल पूछ रहे हैं कि ये किस तरह का बैन है और ये बैन कब से प्रभावी होग, क्योंकि ऐप तो अब भी काम कर रहे हैं और ये अब तक प्ले स्टोर और ऐप स्टोर में डाउनलोड के लिए उपलब्ध हैं तो फिर इसे कैसे बैन कहा जाए.



बता दें कि इलेक्ट्रानिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि चायनीज ऐप्स द्वारा भारत के यूजर्स का डाटा का संकलन, माइनिंग और प्रोफाइलिंग राष्ट्रीय सुरक्षा और भारत की रक्षा के लिए सही नहीं थे, जिससे हमारे देश की संप्रभुता और अखंडता प्रभावित हो रही थी और यह गहरी चिंता का विषय था और इस पर तत्काल कदम उठाने की जरूरत थी.” मंत्रालय ने कहा कि यह कदम करोड़ों भारतीय मोबाइल यूजर्स के हितों की रखवाली करेगा.