क्राइम छत्तीसगढ़ स्लाइडर

छत्तीसगढ़: चोरों ने बदला पैतरा…रात नहीं कर रहे हैं सुुबह होने का इंतजार…मॉर्निंग वाक पर निकलते ही घरों में बोल रहे हैं धावा…

रायपुर। राजधानी रायपुर में चोरी के लिए चोरों ने एक अलग ही तरीका इजाद किया है। पहले चोर रात में चोरी करते थे अब सुबह होने का इंतजार कर रहे हैं। घर का कोई सदस्य जैसे ही मॉर्निंग वाक पर निकल रहे हैं, चोर घरों में धावा बोल रहे हैं। लोगों के बेडरूम में जाकर मोबाइल और कैश चोरी कर रहे हैं।

राजधानी में तड़के सुबह चोरी की घटनाएं बढऩे लगी हैं। कूलर-एसी में लोग इतने गहरी नींद में रहते हैं कि उनके तकिये के नीचे मोबाइल निकालने पर भी उन्हें पता नहीं चल रहा है। डीडी नगर इलाके में इस तरह की चार चोरी की घटना हो चुकी है।

पुलिस की टीम जांच में जुटी है। पड़ताल में पता चला है कि गिरोह में चार युवक है। इसमें से तीन बाहर निगरानी करते हैं और एक भीतर जाकर चोरी करता है। इनकी उम्र 25-30 साल की है। इस तरह की चोरी शहर के अन्य इलाकों में भी हो रही हैं।

महादेवघाट रोड में पीके देवांगन का मकान है। मकान से लगा उनकी दो दुकान है। बुधवार सुबह 5 बजे उनके पिता मॉर्निंग वाक पर निकले। दरवाजा बाहर से बंद था। एक घंटे बाद लौटे तो उसका, पत्नी समेत घर के अन्य सदस्य का मोबाइल और टेबल में रखा मोबाइल गायब था।

घर पर हड़कंप मच गया। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। रिपोर्ट लिखाने उनके साथ वार्ड के पार्षद भी गए, लेकिन पुलिस वालों ने केस दर्ज नहीं किया है। उनकी शिकायत को जांच में रखा गया है। पिछले 25 दिन में इसी इलाके में इस तरह की चार चोरियां हो चुकी हैं।

चोरी की रिपोर्ट नहीं दर्ज कर रही पुलिस , शहर के अधिकांश थानों में शिकायत है कि चोरी की रिपोर्ट नहीं लिखी जा रही है। खासतौर पर मोबाइल चोरी के मामले में गुम मोबाइल का फार्म भराकर भेज देते हैं। उसके बाद मोबाइल को ट्रैक नहीं किया जाता है।

लोगों को उनका मोबाइल वापस नहीं मिलता है। मॉर्निग में चोरी होने वाले ज्यादातर घटना में अब तक केस ही दर्ज नहीं किया गया। लोगों को थाने से चलता किया जाता है।

Add Comment

Click here to post a comment

विज्ञापन

हमसे जुड़ें

Do Subscribe

JOIN us on Facebook