Breaking News ट्रेंडिंग देश -विदेश स्लाइडर

PM मोदी आज रात 8 बजे फिर देश को करेंगे संबोधित…कोरोना पर होगी बात… Tweet कर दी जानकारी…

नई दिल्ली। देश में लगातार बढ़ते जा रहे कोरोना वायरस के मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार शाम को एक बार फिर देश को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी आज शाम को 8 बजे राष्ट्र को संबोधन देंगे। इससे पहले 19 मार्च को पीएम ने देश को संबोधित किया था और जनता कफ्र्यू का ऐलान किया था। प्रधानमंत्री ने इस बात की जानकारी ट्विटर पर दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वह आज रात आठ बजे देश को संबोधित करेंगे। इस दौरान कोरोना वायरस पर कुछ अहम जानकारियां साझा करेंगे। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के संबंध में कुछ महत्वपूर्ण बातें देशवासियों के साथ साझा करूंगा। आज, 24 मार्च रात 8 बजे देश को संबोधित करूंगा।

देश में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 500 के पार हो चुकी है और अबतक 10 मौत हो गई हैं। ऐसे में केंद्र और राज्य सरकारों ने लॉकडाउन का ऐलान किया था, कई राज्यों में कफ्र्यू भी लगाया गया है।

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, गुजरात समेत देश के कुल 30 राज्यों ने पूर्ण रूप से लॉकडाउन का ऐलान किया है। इसके अलावा लोगों को सख्त हिदायत दी जा रही है कि लोग घरों से बाहर ना निकलें। इसके अलावा पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर कानूनी एक्शन भी लिया है।

लॉकडाउन का कई राज्यों में हुआ था उल्लंघन
बता दें कि कोरोना वायरस के चलते देश के 30 राज्यों में लॉकडाउन किया गया है, लेकिन सोमवार को जो तस्वीरें आई थीं उनमें देखने को मिला था कि लोग सड़कों पर आ रहे हैं और लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे हैं। खुद प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर लोगों से अपील की थी कि वे लॉकडाउन को गंभीरता से लें और राज्य सरकार कानून का पालन करवाएं।

पिछले संबोधन में किया था जनता कफ्र्यू का ऐलान
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 मार्च को रात 8 बजे राष्ट्र को संबोधित किया था। तब भी पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कोरोना वायरस पर बात की थी और 22 मार्च को जनता कफ्र्यू का ऐलान किया था। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने देश में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लडऩे में काम कर रहे लोगों के लिए आम जनता से आभार जताने के लिए कहा था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर देशवासियों ने शाम पांच बजे अपने घर की छत पर आकर तालियां-थालियां बजाई थीं, लेकिन इसके बाद भी कई जगहों पर लोग सड़कों पर उतर आए थे और भीड़ एकत्रित की थी।